भारत के प्रमुख त्यौहार कौन कौन से है।

bharat ke pramuk fastival in hindi

भारत त्योहारों का देश माना जाता है। यहाँ पर हर धर्म के लोग रहते है इसलिए यहाँ पर हर महीने त्योहार आते रहते है। जितने त्यौहार हमारे देश में मनाये जाते हैं, उतने किसी देश में नहीं मनाये जाते। त्यौहारों के मौकों पर अनेकता मे एकता देखने को मिलती है यही मेरे देश की पहचान है।

भारत में कई संस्कृतियों का समावेश हैं, ऐसे में कई विचारधाराओं एवम मान्यताओं के आधार पर भिन्न- भिन्न त्यौहार मनाये जाते हैं यहाँ पुरे साल त्यौहारों का सिलसिला जारी रहता है।

“वैसे तो यहाँ पर कही त्यौहार है पर जो प्रमूक रूप से निम्न है।”

नवरात्रि :- नवरात्रि का हिन्दू धर्म में बहुत महत्वपूर्ण स्थान है। यह त्यौहार हर साल दो बार बनाया जाता है, पहला चैत्र मास(मार्च/ अप्रैल) और दूसरा अश्विन मास (सितम्बर/ अक्टूबर) को मनाया जाता है। नवरात्रि मे 9 दिनों तक मातारानी की पूजा और दसवा दिन दशहरा मनाया जाता है।shardiye navratri

दीपावली :- दिवाली हिन्दुओं का प्रमुख त्यौहार है। यह त्यौहार पुरे भारतवर्ष मे बड़े भूम धाम से मनाया जाता है यह पर्व कार्तिक माह की अमावस्या के दिन मनाया जाता है। यह त्योहार हर साल अक्तूबर या नवंबर के महीने में आता है।
दिवाली को दीप का त्योहार भी कहा जाता है| दिवाली की रात पुरा देश जगमगाता है रंग बिरंगे लाइटे, दिये, मोमबत्ती आदि से घरो को सजाया जाता है| दीपों की पंक्तियों से सजने के कारण इसे दीपावली कहा जाता है|
दीपावली का मतलब बुराई पर अच्छाई की जीत से है इस दिन भगवान श्री रामचंद जी  चौदह वर्ष का बनवास काट कर तथा असुर राज रावण का बध करके अपनी पत्नी माता सीता और भ्राता लक्ष्मण के साथ अयोध्या लौटे थे। उनके आने की ख़ुशी मे पूरी अयोध्या को दियो से सजाया गया था। laxmi pujan 1477387156

होली :- होली रंगों का त्योहार है। भारत के अनेक त्योहारों में यदि कोई त्योहार सबसे अधिक रंगीन एवं मौज मस्ती से भरा है तो वह है होली। यह त्योहार केवल रंगों का ही नहीं बल्कि भाईचारे एवं स्नेह का भी प्रतीक है। इस त्योहार को सभी प्रेम, उल्लास एवं उत्साह से मनाते हैं। यह त्योहार एकता एवं मिलन का त्योहार है। होली (Holi) वसंत ऋतु में आने वाला हिंदुओं का प्रमुख त्यौहार है। ये भारत को छोड़ कर नेपाल मे भी मनाया जाता है। ये हर साल फाल्गुन (मार्च) के महीने आती है। इसे रंगों के त्यौहार भी कहा जाता है।Holi 1280x720 1

महाशिवरात्रि :- महाशिवरात्रि हिन्दु धर्म के लोगो का प्रसिद्ध त्यौहार है। यह फाल्गुन महीने के कृष्ण पक्ष क़ी त्रयोदशी को आता है। इस व्रत का महत्व महिलाओं के लिये खास माना जाता है कहा जाता है कि अगर कोई कन्या इस दिन व्रत रखती है तो उसका विवाह जल्दी हो जाती है, ये पूरा दिन भगवान शिव के लिये होता है।Maha shivratri cover

जन्माष्टमी :- कृष्ण जन्माष्टमी सभी हिन्दू त्योहारों की तरह महत्वपूर्ण है। यह त्यौहार हर साल भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को आता है। इस त्यौहार को विदेशों में बसे भारतीय भी पूरी आस्था व उल्लास से मनाते हैं। इस दिन भगवन श्रीकृष्ण का जन्म मध्यरात्रि में हुआ था। कहा जाता है इस दिन भगवान कृष्ण की आराधना से विशेष फल प्राप्त होता है।janmashtmi

रक्षा बंधन :- रक्षाबंधन भाई बहनों का वह त्योहार है तो मुख्यत: हिन्दुओं में प्रचलित है पर इसे भारत के सभी धर्मों के लोग समान उत्साह और भाव से मनाते हैं। पूरे भारत में इस दिन का माहौल देखने लायक होता है और यही तो एक ऐसा विशेष दिन है जो भाई-बहनों के लिए बना है। रक्षाबन्धन हिन्दुओं त्योहार है जो हर साल श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन आता है। यह त्योहार भाई बहन के रिश्तो से सम्बंधित है, इस दिन भाई अपनी बहिन की रक्षा का बचन देता है।raksha bandhan 2020 images

पोंगल :- पोंगल तमिल के लोगों का प्रमुख त्यौहार है। यह त्योहार हर साल  मकर संक्रांति के आसपास आता है। यह उत्सव लगभग 4 दिन तक चलता है। कहा जाता है कि इस दिन लोग बुरी रीतियों का छोड़ना और अच्छी चीजों को ग्रहण करने की प्रतिज्ञा करते हैं।

क्रिसमस :- क्रिसमस’ ईसाइ धर्म के लोगो का प्रसिद्द त्यौहार है। यह हर साल 25 दिसंबर को पुरी दुनिया में धूमधाम से मनाया जाता है। क्रिसमस का त्योहार ईसा मसीह के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है।

बसंत पंचमी :- बसंत पंचमी हिन्दुओ का प्रमुख त्यौहार है बसंत पचमी को श्री पंचमी और ज्ञान पंचमी भी कहा जाता है । यह त्यौहार माघ के महीने में शुक्ल पंचमी के दिन आता है | यह त्यौहार भारत के अलावा बांग्लादेश, नेपाल और कई राष्ट्रों में बड़े उल्लास से मनाया जाता है।348023 saraswati e1603784092904

गुरुपर्व :- गुरु पर्व गुरु नानक देव के जन्म के रूप में मनाते है। गुरु नागक देव सिख धर्म के संस्थापक व प्रथम गुरु थे। यह त्यौहार सिख समुदाय के लोग मानते है हर साल यह कार्तिक पूर्णिमा के दिन गुरुनानक दिवस के रुप में मनाया जाता है।

लोहड़ी :- लोहड़ी’ पंजाबी लोगों का एक प्रसिद्द त्यौहार है। यह हर साल 13 जनवरी को सूर्यास्त के बाद मनाया जाता है। इस दिन रात के समय लकड़ियां जला कर लोग हाथ सेंकते हैं तथा रेवड़ी, मूंगफली, गुड, चिड्‌वे खाते और बाटते है पंजाबी समाज में इस पर्व की तैयारी कई दिनों पहले ही शुरू हो जाती है। इसका संबंध मन्नत से जोड़ा गया है अर्थात जिस घर में नई बहू आई होती है या घर में संतान का जन्म हुआ होता है। वहां ढोल तथा संगीत के साथ खूब धूमधाम होती है।650x 2019010818482010 e1603784717653

ओणम :- ओणम केरल के लोगों का मुख्य त्यौहार है यह हर साल अगस्त-सितम्बर के महीनों में मनाया जाता है। राजा महाबली के सम्मान में यह त्यौहार मनाया जाता है यह दस दिन तक चलता है और हर दिन नाच गाना और हर्ष उलाश से मनाया जाता है

ईद :- यह त्यौहार मुस्लिम समुदाय के लोगों का प्रमुख त्यौहार है। ये त्यौहार रमज़ान माह के बाद आता है़। मुस्लिम समुदाय के अनुसार, महीने में इस रस्म को निभाने से पूरा जीवन सुख-शांति से गुज़रता है।

बुद्ध पूर्णिमा :- बुद्ध पूर्णिमा भारत के प्रमुख त्योहारों मे से एक है इस त्यौहार को बौद्ध धर्म के लोगों द्वारा मनाया जाता है इस दिन भगवान बुद्ध का जन्म हुआ था यह त्यौहार वैशाख मास की पूर्णिमा को आता है और इसको वैशाख पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है।650x 2018042913003904 e1603784540161

वैसाखी :- वैसाखी भारत का प्रसिद्ध त्योहार है। यह त्योहार अप्रेल के महीने में आता है। इस दिन गेहूं की फसल पक कर तैयार हो जाती है किसान अपनी लहलहाती फसल को देखकर खुशी से झूम उठता है। इस दिन कई स्थानों पर मेले लगते हैं। पंजाबियों के लिए इस त्योहार का धार्मिक एवं साहित्यिक महत्त्व है। इसी दिन 1699 ई. में श्री गुरु गोबिंद सिंह जी ने खालसा पंथ की स्थापना की थी।

भारत के राष्ट्रीय त्योहार (National Festivals of India in Hindi)

“देश का कोई न कोई अपना राष्ट्रीय त्यौहार होता है वैसे ही भारत के भी कुछ राष्ट्रीय त्यौहार है जो में आपको बता रहा हु।”

स्वतंत्रता दिवस 〉 इस दिन भारत को ब्रिटिश राज से स्वतंत्रता मिली थी, अत भारत के लोग हर साल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मानते है। यह दिन उन स्वतंत्रता सेनानियों के सम्मान में मनाया जाता है जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपने प्राणों का बलिदान दिया। 1947 को भारत देश को ब्रिटिश शासन से 200 साल बाद स्वतंत्रता मिली थी। जिसे हम हर साल मनाते हैं। हर साल 15 अगस्त को हमारे देश की स्वतंत्रता को पुरे जोश के साथ मनाया जाता है। ये हर एक भारतीय के लिए आनंदमय दिवस होता है, इस दिन सैमों को देश के लिए जान देने वाले शहीदों की याद आती है, सब उन्हें श्रधांजलि देते हैं। इस दिन प्रधानमंत्री दिल्ली के लाल किले में झंडा फहराते है, सभी मुख्यमंत्री अपने अपने प्रदेश में, व और बड़े नेता किसी न किसी जिले में हमारे देश की शान तिरंगे झंडे को फहराते है। लाल किले से प्रधानमंत्री जी देश के नाम का भाषण भी देते हैं। प्रधानमंत्री जी देश में हुए विकास व् आने वाले समय की नई योजनाओं के बारे में बात करते हैं। झंडा बंधन के बाद राष्ट्रगान भी टूट जाता है। प्रधानमंत्री देश की सेना को सलामी देते हैं।thequint 2019 08 c9df8df5 511d 45a7 bb02 fc9d5e3e556e iStock 1015589218

गणतंत्र दिवस 〉 इस दिन भारत का संविधान अस्तित्व में आया था, तो हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। 26 जनवरी 1950 को भारत देश का स्वतंत्र संविधान बना था। जिसके बाद से हर साल 26 जनवरी को हम गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं। इस दिन प्रधानमंत्री इंडिया गेट पर देश के सभी शहीदों को श्रध्दा सुमन अर्पित करते हैं। इस दिन का भारत के हर एक नागरिक के जीवन में विशेष महत्त्व है, इस दिन भारत सम्पूर्ण गणराज्य बन गया था। देश को अपनी सरकार चलाने का हक मिला था। गणतंत्र दिवस के मौके पर भी स्वतंत्रता दिवस जैसी तैयारी होती है, हर जगह झंडा बंधन होता है, राष्ट्रगान फिर भाषण। दिल्ली के राजपथ पर इसकी विशेष फिक्री होती है। दिल्ली के स्कूली बच्चों के द्वारा विशेष फोल्क डांस तैयार किया जाता है, साथ ही इस दिन एक विशेष फिक्री होती है। इस दिन देश के सभी राज्य, मंत्रालय द्वारा राजपथ पर विशेष झाकियां निकाली जाती है। ये झांकी किसी भी विषय पर बनाई गई है। इस दिन भारत में पूर्वानुमान के रूप में विदेश से किसी नेता को बुलाया जाता है। नरेंद्र मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के बाद उनके पहले गणतंत्र दिवस पर 2015 में अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा को बुलाया गया था। राजपथ पर ये कार्यक्रम 2 घंटे के लगभग चलता है।

इसी दिन शोर्य व् वीरता के पुरुवर्ण भी सूचीबद्ध किए जाते है, पद्म भूषण, विभूषण, भारत रत्न जैसे विशेष सम्मान के लिए नामों का नामांकन भी इसी दिन होता है। देश के हर जिले में इसे मनाते है, वहां भी अलग अलग झाकियां निकाली जाती है, जो आकर्षण का मुख्य केंद्र होता है। राज्य के गवर्नर सेना की परेड को सलामी देते हैं।Happy Republic Day Quotes in Hindi

गांधी जयंती 〉 हर साल 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी जी के जन्म दिन को (National Festivals of India) के रूप में मनाया जाता है। गाँधी जी ने अपने पुरे जीवन में लोगो को अहिंसा और सत्य का पाठ पढ़ाया है हमारे देश के राष्ट्रपिता ‘मोहनदास करमचन्द गाँधी’ जी के जन्म दिन 2 अक्टूबर को गाँधी जयंती के रूप में समस्त भारत में मनाया जाता है। महात्मा गाँधी ने अपने कठिन प्रयासों से भारत देश को आजादी दिलाई थी। अहिंसावादी गाँधी जी देश के लिए जान देने को तैयार थे, उन्हें बस देश की आजादी प्यारी थी। राष्ट्रीय पर्व में इसका भी महत्वपूर्ण स्थान है। इस दिन को स्वतंत्रता दिवस व् गणतंत्र दिवस जैसे बड़े तौर पर नहीं मनाया जाता है, लेकिन यह दिन हर भारतीय को शांति व् भाईचारे का सन्देश देता है। गाँधी जी सत्याग्रह व् अहिंसा के साथ हमेशा खड़े रहे है, उन्होंने अपने मूल्यों पर चलकर देश को आजादी दिलाई थी। इस दिन सरकारी, व् शैक्षिक संसथान पर गाँधी जी को श्रद्धा सुमन अर्पित किये जाते है, उनके बारे में गीत भाषण का आयोजन होता है।

इस दिन प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति व् देश का हर एक बड़ा नेता गाँधी जी के समाधी स्थल राजघाट में जाता है और महात्मा गाँधी को श्रधांजलि देते है, यहाँ विशेष प्राथना सभा का भी आयोजन किया जाता है। साथ ही गाँधी जी के जीवन पर आधारित भाषण, वाद-विवाद, पेंटिंग, निबंध, क्रिएटिव राइटिंग प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है। इससे बच्चे गाँधी जी को और करीब से जान पाते है। 2014 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने गाँधी जयंती पर ही ‘स्वच्छ भारत अभियान’ का  शुभारम्भ किया था।

उपर बताये गए दिनों के अलावा कुछ और यादगार दिन भी है, जैसे लाला लाजपत राय, रानी लक्ष्मी बाई, सुभाषचंद्र बोस आदि ये वे सभी लोग है, जिन्होंने हमारे देश की आजादी के लिए अपने प्राण न्योछावर कर दिए। इन्होने देश को आजाद करना अपना पहला कर्तव्य समझा। ये सभी दिनों को छोटे तौर पर मनाया जाता है। राष्ट्रीय तौर पर यही त्यौहार हमारे देश को एकिकृत करते है, जहाँ कोई जाति, धर्म, समाज हमें इन त्यौहारों को ना मनाने के लिए बाध्य नहीं कर सकता है।

SHARE