Mothers Day कब और क्यों मनाया जाता है?

इस खास दिन पर सब बच्चे अपनी माँ को एक गिफ्ट देते है, अपनी माँ को उपहार देने के लिए ये दिन सबसे अच्छा माना जाता है। अगर आप भी मदर डे पर अपनी माँ को gift देना चाहते हो और इस दिवस के बारे में विस्तार से जानना चाहते हो तो इस आर्टिकल में आपको मातृ दिवस के बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी।

माँ दुनिया के हर बच्चे के लिए सबसे बड़ा और प्यारा रिश्ता है, उस माँ को सम्मानित करने के लिए हर साल मई महीने के दुसरे रविवार को मातृ दिवस दिवस मनाया जाता है मगर इस दिन को अलग अलग देशों में अलग-अलग तारीखों और तरीकों से मनाया जाता है।

मातृ दिवस कब और क्यों शुरू हुआ (When and why did Mother’s Day begin)

मदर्स डे ग्राफ्टन वेस्ट वर्जीनिया में अन्ना जार्विस के द्वारा सभी माँओ और उनके गौरवमयी मातृत्व के लिए और ज्यादातर रूप से पारिवारिक और उनके परस्पर सम्बंधो को बढ़ावा और सम्मान देने के के लिए शुरू किया गया था। यह दिन अब दुनिया के हर हिस्से में अलग-अलग दिनों में मनाया जाता है।

बहुत से बुज्रुगों का कहना था कि माँ के प्रति सम्मान, मतलब माँ की पूजा की परम्परा पुराने ग्रीस से शुरु हुआ है। बड़े लोगो से सुनने को आता है कि साइबेले ग्रीक हमारे देवताओं की माँ हुआ करती थी उनकी याद और सम्मान के लिए मदर डे मनाया जाता है।

सर्वप्रथम मातृ दिवस किसने मनाया (Who celebrated Mother’s Day first)

सबसे पहले मातृ दिवस अमेरिका में उद्घोषणा जूलिया वर्ड होवे के द्वारा मनाया गया था। होवें के द्वारा 1870 में रचा गया “मातृ दिवस की घोषणा” में अमरीकी गृह युद्ध लड़ाई में हुई मारकाट सम्बंधी शांतिवादी प्रतिक्रिया (reaction) लिखी गई थी। यह घोषणा हॉवे का नारीवाद विश्वास था जिसके तहत महिलाओ और माताओं को राजनितिक स्तर पर अपने समाज अपनी परम्परा को एक नया आकार देने का सम्पूर्ण दायित्व मिलना चाहिए।

1912 में अन्ना जार्विस ने दुसरे रविवार को मई में मदर्स डे के लिए को ट्रेडमार्क मनाया था और उसके बाद मदर डे अंतर्राष्ट्रीय संघ का निर्माण किया था।

Mothers Day को स्पेशल कैसे बनाए? (How to make Mother’s Day special)
  1.  मुझे किसी जन्नत का नहीं पता क्युकी हम अपनी माँ के कदमो को ही जन्नत कहते हैं।
  2. सच्चा प्यार करो तो सिर्फ माँ से करो क्युकी इस प्यार में कभी बेवफाई नहीं होती।
  3. ” माँ कैसी हों ” बस इतना ही पूछ उसे मिल गया सबकुछ।
  4. अपनापन तो हर कोई दिखाता है पर अपना कौन है ये तो वक्त ही बताता हैं।
  5. माँ जन्नत का फुल है प्यार करना उसका उसुल है दुनिया की मोहब्बत फिजूल है माँ की हर दुआ कबूल हैं।
  6. हर रिश्ते में मिलावट देखी, कच्चे रंगों की सजावट देखी, लेकिन सालो साल देखा है माँ को उसके चहरे पर कभी थकावट न देखी और न ममता में कभी मिलावट देखी।
  7. फ्री में बस माँ बाप का प्यार मिलता है इसके बाद हर रिश्ते के लिए हमे कुछ न कुछ चुकाना पड़ता हैं।
  8. सुना है पहला प्यार भुलाए से भी भुलाया नहीं जाता है पर फिर भी पता नहीं लोग कैसे अपनी माँ के प्यार को 2 पल में भूला देते हैं।
  9. इस तरह तेरे हर गुनाहों को धो देती है माँ बहुत गुस्से में हो तो रो देती है माँ।
  10. मैंने माँ की हथेली पर एक काला तिल देखा और कहा ”माँ ” ये दौलत का तिल है तो माँ ने अपने दोनों हाथो से मेरा माथा थामा और कहा हाँ बेटे देखो मेरे दोनों हाथो में कितनी दौलत हैं।
  11. माँ ने देखा बरतन पकड़ने के लिए कुछ नहीं है, उसने गर्म पतीला हाथ से उठा लिया, माँ का हाथ जल गया, बेटे ने सर झुकाकर दूध के साथ रोटी खाई और दोस्तों के साथ खेलने चला गया।
  12.  अगर तुम किसी को प्यार के लिए रुलाओगे तो याद रखिए एक दिन तुम भी किसी के प्यार के लिए रोओगे।
  13. शायद आपको पता हो प्यार अँधा क्यों होता है क्युकी तुम्हारी माँ ने तुम्हारा चहेरा देखने से पहले तुमे प्यार करना शुरु किया था।
  14. माँ बाप का प्यार ही सच्चा प्यार होता हैं।
  15. जो प्यार हमेशा साथ रहे वो अच्छा है, जो प्यार मुसीबत में साथ दे वो सच्चा हैं।
  16. मंजिल दूर और सफर बहुत है छोटी सी जिंदगी फिर भी फिक्र बहुत है, हमे कब की मार डालती ये दुनिया पर माँ की दुआओं में असर बहुत हैं।
  17. हर किसी के नसीब में सच्चा प्यार नहीं होता है और हर कोई सच्चे प्यार के काबिल नहीं होता, कभी कभी मोहब्बत खुद आ जाती है हमारे पास और कभी सब कुछ होता है हमारे पास, बस प्यार नहीं होता।
  18. इस दुनिया के सम्बंधो में माँ से बढ़कर कोई नहीं, माँ अपने बच्चो से पहले एक पल भी शोई नहीं हैं।
  19. किसी के दूर जाने पर प्यार का अहसास हो ये जरुरी नहीं है किसी को दूर जाने से रोक लेना बहुत बड़ा प्यार हैं।
  20. माँ एक ऐसी बैंक है जिसमे आप हर भावना और दुःख जमा कर सकते हो।
  21. जब पति ने अपना पसीना अपनी पत्नी के दुपट्टे से पूछना चाहा तो पत्नी बोलो ”दुपट्टा गन्दा हो जायेगा” जब जब पति ने माँ के दुपट्टे से अपना पसीना पूछना चाहा तो माँ बोली बेटा ये गन्दा है साफ लाती हूँ।
  22. जो कहता है मोहब्बत से तन्हा ही सही पर वो सोचे तो सही की बचपन में माँ ने भी तन्हाई अख्तियार की होती।
  23. माँ का प्यार किस्मत वालो को मिलता है माँ की कदर उनसे पूछो जो इस न्यामत से महरुम हैं।
  24. ऐ जिंदगी तूने तो रुला के रख दिया जाकर पूछ मेरी माँ से कितना लाडला था मैं।
  25. मत करना नजरंदाज माँ बाप की तकलीफों को ऐ मेरे प्यारे दोस्तों जब ये बिछड़ जाते है तो रेशम के तकिए पर भी नींद नहीं आती।
  26. सोचती हु कहा खो गए मेरे वो अपने जिन्हें मेने अपने दी थी नींद, रोटी, सुख मुझे नहीं चाहिए वो सब बस लोटा सको तो एक मुट्ठी प्यार लोटा डो ताकि बची जिंदगी जी भर के जी सकु।
  27. नहीं जानती में इस दुनिया में किसी को भी मेने जाना बस माँ तुमको।
  28. मेने अपनी माँ के कंधे पर सर रख कर माँ से पूछा माँ कितनी देर तक सोने दोगी माँ बोली जब तक लोग मुझे अपने कंधो पर नहीं उठा लेते।
  29. मेरी हर गलतियों को वो माफ़ कर देती है, बहुत गुस्से में हो तब भी प्यार देती है, होठों के उसके हमेशा दुआ होती है ऐसी सिर्फ और सिर्फ माँ होती हैं।
  30. हर कामयाब  स्टूडेंट्स के पीछे माँ की चप्पल का हाथ होता हैं।
  31. बस माँ बाप का दिल जित लो कामयाब बन जाओगे नहीं तो सारी दुनिया से जित कर भी हार जाओगे।
  32. वो क्या दिन थे माँ की गोद, बाप के कंधे, ने पैसे की सोच ने लाइफ के फंडे, ने कल की चिंता ने फीचर के सपने, अब कल की फिक्र और अधूरे सपने, पीछे मुड कर देखा तो दूर बहुत है अपनी मंजिल को ढूंढते हम कहा खो गए, ने जाने क्यु हम इतने बड़े हो गए।
  33. माँ का चहेरा भी हसीन है तस्बीह के जैसे मैं प्यार से देखता रहा और इबादत होती गयी।
  34. माँ और बीवी दोनों को बेपनाह इज्जत और मोहब्बत दो क्युकी एक तुमे इस दुनिया में लाई और एक सारी दुनिया को छोड़कर तुम्हारे पास आई।
  35. वोबस माँ ही है जिसका प्यार कभी खत्म नहीं होता।
  36. इस दुनिया में तुमसे सच्चा प्यार बिना स्वार्थ के सिर्फ तुम्हारे माँ बाप ही कर सकते हैं।

माँ और उसके प्यार को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता लेकिन कुछ शब्द माँ को सम्मानित कर सकते हैं और माँ के लिए औलाद के दिल में मोहब्बत पैदा हो सकती है।

SHARE