वेब होस्टिंग क्या है? (What Is Web Hosting)

what is web hosting

इंटरनेट मे जब हम ब्लॉग या वेबसाइट बनाते है तो हमारे पास दो चीज़े होनी चाहिए  सबसे पहला है पहला डोमेन और दुसरा वेब होस्टिंग(Web Hosting) इन दोनों के बिना आप  इंटरनेट मे वेबसाइट या ब्लॉग नहीं बनाना सकते। डोमेन क्या है? इसके बारे मे तो आप जानते ही होगे।

वेब होस्टिंग खरीदना बड़ी बात नहीं है हर कोई खरीद सकता है। ये आपको  5-6 हजार के बीच मे  मिल जायेगा लेकिन होस्टिंग को खरीदने से पहले आपको इसके बारे मे जाना बहोत जरुरी है। क्यों की इसके बहोत  सारे प्रकार होते है। शुरुवात मे कोनसे होस्टिंग चुने और कहा से ख़रीदे ये जानना बहोत ही जरुरी है क्यों की बहोत से ब्लॉगर जिन्हे होस्टिंग के बारे मे पता नहीं होता वो लोग डायरेक्ट मेहेंगे होस्टिंग को खरीद लेते है उन्हे लगता है की सब वेब होस्टिंग एक ही है।

वेब होस्टिंग क्या है? (what is web hosting)

इंटरनेट मे आपके ब्लॉग या वेबसाइट के लिए एक जगह की जरुरत होती है। जिसे हम इंटरनेट की भाषा मे वेब होस्टिंग (web hosting) कहते है  जब हम इंटरनेट मे होस्टिंग खरीदते है तो हमें इंटरनेट मे एक स्पेस यानि जगह मिलती है। जहा हमारा ब्लॉग या वेबसाइट एक्टिव रहता है और इस जगह को हम जो भी नाम देते है जिससे लोग हमारे वेबसाइट या ब्लॉग को देखते है उसे हम डोमेन कहते है।

जिस तरह आपको धरती मे रहते के लिए के जगह या प्लोट की जरुरत होती है। उसी तराह इंटरनेट मे आपके ब्लॉग को भी एक जगह की जरुरत होती है जिसे हम वेब होस्टिंग कहते है इसी के अन्दर हमारे सारे पोस्ट ,फोटोज ,फाइल्स विडियो इत्यादि सेव रहता है और ये 24 घटे एक्टिव रहता है जिससे की हमारा ब्लॉग हमेशा ऑनलाइन रहे अब ये जगह जो हमें प्रदान करते है उन्हे हम वेब होस्टिंग कंपनी कहते है।

जो लोग वेबसाइट बनाने की सोच रहे होते हैं उनके मन में Web Hosting को लेकर यही सवाल आते हैं। ज्यादातर लोगों होस्टिंग के बारे में ज्यादा जानकारी नही होती इसलिए वह गलत होस्टिंग का चुनाव कर लेते हैं जिससे उनकी वेबसाइट ठीक तरह से गूगल पर रैंक नही करती है।

Hosting का हिंदी में अर्थ होता है “मेजबानी” और मेजबान उसके कहते हैं। जो घर पर आये हुए मेहमान का स्वागत सत्कार करता है ठीक उसी प्रकार से वेब होस्टिंग का मतलब हैं इन्टरनेट पर मेजबानी करना।

इन्टरनेट पर जो भी यूजर हमारी वेबसाइट को यूज़ करने आता है तो हमे बेस्ट सर्विस प्रोवाइड करनी होती है। अगर वह हमारे ब्लॉग/वेबसाइट पर कोई इनफार्मेशन लेने आया है। तो हमे अच्छी इनफार्मेशन देनी चाहिए। जिससे वह पूरी तरह से संतुष्ट हो सके।

Web Hosting क्या होती हैं

किसी भी वेबसाइट को जब हम देखते हैं तो हमे उसमे बहुत सारा टेक्स्ट, फोटोज और विडियो देखने को मिलते हैं यहाँ तक उसकी खुद वेबसाइट भी कोडिंग की फाइल होती है।

इन सारे डाटा को इन्टरनेट पर लाने के लिए ऐसी जगह पर स्टोर करने की जरूरत होती है जिसे कोई भी यूजर इन्टरनेट के माध्यम से इस डाटा को एक्सेस कर सके औऱ वह जानकारी प्राप्त कर सकें।

सरल शब्दों में जैसे आपके मोबाइल में मेमोरी कार्ड व कंप्यूटर में रोम यानी स्टोरेज होता हैं उसी तरह Web Hosting आपको एक स्पेस व स्टोरेज प्रदान करती है जिसमें आपकी वेबसाइट पर डालने वाले टेक्स्ट, फोटोज और विडियो के लिए स्थान प्रदान करती है।

आप चाहे तो खुद अपने कंप्यूटर को सर्वर बनाकर इन्टरनेट के माध्यम से अपनी वेबसाइट के डाटा को होस्ट कर सकते हैं। लेकिन ऐसा करना बहुत ही मुश्किल है और इसके लिए हमे बहुत ज्ञान की भी जरूरत होती है।

साथ ही रख रखाव और मेंटिनेंस की भी बहुत जरूरत होती है। खुद के कंप्यूटर से वेबसाइट को होस्ट करने में सबसे बड़ी प्रॉब्लम है की अगर आपका सिस्टम बंद हो गया तो कोई भी यूजर आपकी वेबसाइट को एक्सेस ही नही कर पायेगा।

वेबसाइट को होस्ट करने के लिए बहुत सी ऐसी कंपनी है जो पैसे लेकर आपकी वेबसाइट को होस्ट करती है इन कंपनियों के सर्वर बहुत पावरफुल होते हैं जिससे आपकी साईट कभी भी बंद नही होती है और यूजर भी आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को आसानी से एक्सेस कर सकता है।

Web Hosting कैसे काम करती है। 

Web Hosting का काम हमारे डाटा को इन्टरनेट पर लाना होता है जिससे कोई भी यूजर हमारी वेबसाइट को एक्सेस कर सके और हमारे कंटेंट को देख सके, हमारी वेबसाइट को इस्तेमाल करके सके..

किसी भी वेबसाइट को बनाने के लिए हमे उस वेबसाइट के नाम यानि डोमेन नेम को वेब होस्टिंग के सर्वर से कनेक्ट करना होता हैं। जिससे हमारी वेबसाइट बन जाती है और वेबसाइट का यूआरएल मिल जाता है।

किसी भी वेबसाइट को एक्सेस करने के लिए हमे उस वेबसाइट का यूआरएल पता होना चाहिए यूआरएल उस वेबसाइट का पता होता है जब यूआरएल हम किसी वेब ब्राउज़र में डालते हैं तो वेब ब्राउज़र इन्टरनेट पर होने की वजह से हमारी वेबसाइट को इन्टरनेट पर खोजता है।

चूँकि हमारी हमारी वेबसाइट का डाटा Web Hosting की वजह से इन्टरनेट पर मौजूद हैं तो वेब ब्राउज़र पर हमारी वेबसाइट लाइव हो जाती है और इस तरह से Web Hosting काम करती है।

Web होस्टिंग कितने प्रकार की होती है। 

इन्टरनेट पर कई तरह की वेबसाइट मौजूद है और उनका काम भी अलग-अलग है। इसलिए सभी वेबसाइट को किसी एक तरह की होस्टिंग की जरूरत नही पड़ती है बल्कि वेबसाइट के हिसाब से कई तरह की होस्टिंग कंपनियां उपलब्ध करवाती है।

Web Hosting को उनकी परफोर्मेंस, रेट, बैंडविथ, स्पीड आदि के आधार पर भी बांटा गया है इन्टरनेट पर मुख्यता 4 होस्टिंग बहुत पोपुलर हैं जैसे – शेयर्ड, VPS होस्टिंग, डेडिकेटेड होस्टिंग और क्लाउड होस्टिंग।

लेकिन इन सब टाइप्स की होस्टिंग के आलावा होस्टिंग कंपनियां कुछ और टाइप्स की वेब होस्टिंग भी प्रोवाइड करती है जैसे – वर्डप्रेस होस्टिंग, Reseller Hosting, Woocommerce Hosting इत्यादि

एक वेबसाइट या ब्लॉग बनाने के लिए इन सब होस्टिंग में से किस होस्टिंग को कब और क्यों लेना चाहिए ये जानकारी आपको जरूर पता होनी चाहिए जिससे होस्टिंग खरीदते समय आपसे कोई भी गलती न हो

शेयर्ड वेब होस्टिंग (Shared Web Hosting) 

शेयर्ड होस्टिंग का मतलब होता है होस्टिंग को शेयर करना इसमे एक सर्वर होता है। जिसमे बहोत सारे वेबसाइट एक साथ होते है। और ये सरे वेबसाइट इस होस्टिंग को शेयर करते है जिस तराह हम एक रूम मे अपने दोस्तों के साथ एक साथ रहते रहते है। और उसका किराया शेयर करते है शेयर्ड होस्टिंग भी इसी तराह से काम करता है जिसमे एक सर्वर होता है। जहा पे हजारो वेबसाइट होती है और हर वेबसाइट अपना अपना किराया वेब होस्टिंग कंपनी को देता है इस होस्टिंग को उसे करने के बहोत से फायदे भी है और नुकशान भी आइये इन्हें जान लेते है। shared hosting kya hai

शेयर वेब होस्टिंग के फायदे  (Advantage)

    • सबसे पहले फायदा ये है की ये होस्टिंग बहोत ही सस्ती होती है।
    • नए ब्लॉगर के लिए सबसे best होस्टिंग है।

शेयर वेब होस्टिंग के नुकशान (disadvantage)

    • अगर आपका वेबसाइट पोपुलर हो जाए तो ये तब ये होस्टिंग आपके वेबसाइट की स्पीड यानि लोडिंग स्पीड को धीमा कर देता है।
    • हाई ट्रैफिक (High traffic ) को हैंडल नहीं कर सकता इसलिए ये नए ब्लॉगर के लिए ठीक माना जाता है क्यों की न्यू ब्लॉग मे कम ट्रैफिक होता है आप चाहे तो बाद मे शेयर्ड होस्टिंग को चेंज कर सकते हो जब आपके ब्लॉग या वेबसाइट मे ज्यादा ट्रैफिक आने लगे।

वर्चुअल प्राइवेट सर्वर होस्टिंग (Virtual Private Server Hosting)

वर्चुअल प्राइवेट सर्वर होस्टिंग को हम VPS  होस्टिंग भी कहते है। जिस तराह एक बिल्डिंग मे बहोत सारे कमरे यानि रूम होते है  और आप उस कमरे मे रहते है तो उस कमरे मे सिर्फ आपका हक़ होता है दुसरा कोई आके इसमे नहीं रह सकता। इसी तराह VPS होस्टिंग भी ऐसा ही होता है जिसमे एक सर्वर को अलग अलग भाग मे बाटा जाता है और  जो भाग मे आपका वेबसाइट या ब्लॉग है वो भाग मे कोई दुसरा वेबसाइट नहीं आ सकता मतलब ये है की ये आपका प्राइवेट सर्वर है इसे आपके किसी और के साथ शेयर करने की जरुरत नहीं है।

VPS होस्टिंग के फायदे

    • ये होस्टिंग बहोत सिक्योर (Secure) होता है।
    • अच्छा परफॉरमेंस देता है।
    • शेयर्ड होस्टिंगसे ज्यादा ट्रैफिक को हैंडल कर सकता है।

VPS होस्टिंग के नुकशान

    • शेयर्ड होस्टिंग से थोडा ज्यादा मेहेंगा होता है।

डेडिकेटेड वेब होस्टिंग ( Dedicated Web Hosting)

इस  होस्टिंग मे आपको एक पूरा सर्वर आपका होता  जिसमे सिर्फ आपका हक़ होता है उदाहरण के लिए जैसे की आपने एक नया घर ख़रीदा है जिसमे सिर्फ आपका हक़ होता है यानि की पूरी की पूरी बिल्डिंग आपका है इसमे जो भी घर के सामान वगेरा होंगे वो सर्फ आपके होंगे किसी और के नहीं, उसी तराह इस  होस्टिंग मे आपका  एक अपना अलग  सर्वर होता है। जिसमे सिर्फ आपके वेबसाइट के फाइल्स ,फोटोज,और विडियो होंगे।

डेडिकेटेड वेब होस्टिंग के फायदे

    • सबसे बड़ा फायदा ये है की ये होस्टिंग जितने भी हाई ट्रैफिक को हैंडल कर सकता है।
    • ये होस्टिंग बहोत ही ज्यादा सिक्योर होता है।
    • हाई परफॉरमेंस देता है।

डेडिकेटेड वेब होस्टिंग के नुकशान

    • ये होस्टिंग बहोत ज्यादा मेहेंगी होती है।

क्लाउड वेब होस्टिंग (Cloud Web Hosting)

ये सबसे ज्यादा भरोसे मंद माना जाता है। क्यों की इसमे बहोत सारे सर्वर एक साथ होते है। एक क्लाउड की तराह जिससे ये फायदा होता है की  वेबसाइट डाउन होने के बहोत कम यानि ना के बराबर होता है और हाई ट्रैफिक को आसानी से हैंडल किया जा सकता है।

क्लाउड होस्टिंग के फायदे

    • सर्वर डाउन होने के बहोत कम चांसेस होते है।
    • हाई ट्रैफिक को आसानी से हैंडल कर लेता है।

क्लाउड होस्टिंग के नुकशान

    • नुस्कान ये है की क्लाउड वेबसाइट को रूट एक्सेस नहीं देता।
    • ये होस्टिंग भी थोड़ी मेहेंगी होती है।

Web Hosting कहा से खरीदना चाहिए

यदि आप एक सफल ब्लॉगर बनना चाहते है। तो ऐसे मे एक सही वेब होस्टिंग कंपनी को चुनना बहोत जरुरी है तो आज मे आपको ऐसे ही कुछ बेस्ट होस्टिंग कंपनी के बारे मे बताऊंगा इसके साथ आपको इन सब कंपनी के फीचर बताऊंगा जिससे आपको समझ मे आ जायेगा की कोनसी कंपनी से आपको होस्टिंग सर्विस लेनी चाहिए। और कोनसे कंपनी से नहीं।

बेस्ट वेब होस्टिंग कंपनी

ये टॉप 3 कंपनी है जो की इंडिया मे बहोत पोपुलर है ज्यादातर शुरुवाती ब्लॉगर इन्ही कंपनियों से web hosting सर्विस को खरीदते है क्यों की ये कंपनी ईमानदार है एक पैसे का भी घपला नहीं करते है।

ब्लूहोस्ट (Bluehost)

ज्यादातर ब्लॉगर वर्डप्रेस (wordpress) प्रयोग करते है।  ब्लॉगिंग के लिए और वर्डप्रेस ने ऑफिशियली कहा है। की bluehost होस्टिंग बेस्ट है।  वर्डप्रेस के लिए ,बहोत से टॉप इंडियन ब्लॉगर ने भी कहा है।  की ब्लूहोस्ट कंपनी बेस्ट है वेब होस्टिंग के लिए लेकिन आपको पता है ब्लूहोस्ट IN  इंडिया का सर्वर अलग है। और ब्लूहोस्ट US का सर्वर अलग है।

अब ऐसे मे बहोत से लोग इस बात पे कनफ्यूज रहते है। की ब्लूहोस्ट इंडिया से होस्टिंग ख़रीदे या ब्लूहोस्ट Us से  तो मे आपको शोर्ट मे बताता हु ब्लूहोस्ट इंडिया की  होस्टिंग बेकार है। ऐसा मैंने इंटरनेट मे यूजर के ओपिनियन पढ़े थे। जिन्होंने ब्लूहोस्ट IN का सर्वर यूज़ किया है। उन्होंने कहा है की ब्लूहोस्ट इंडिया की होस्टिंग बहोत बेकार है ना तो कस्टमर केयर सर्विस अच्छी है और ना ही अपटाइम।

लेकिन अगर आपका ब्लॉग इंग्लिश मे है। और आप टारगेट All कंट्री है तो आपको सलाह दूंगा की आप bluehost US से ही होस्टिंग ख़रीदे क्यों की ब्लूहोस्ट IN से ज्यादा ब्लूहोस्ट US 10 गुना अच्छा है। इसलिए ब्लूहोस्ट US बेस्ट है होस्टिंग के लिए। us bluehost

होस्टगैटर (Hostgator)

होस्टगैटर का नाम टॉप web hosting कंपनियों मे आता है। ये कंपनी आपको अनलिमिटेड डिस्क स्पेस,अनलिमिटेड बैंडविथ और अनलिमिटेड ईमेल , 99.9% अपटाइम देता है इसके साथ आपको 45 दिन का मनी बेक गारेंटी देता है। इसका मतलब अगर आपको ये होस्टिंग पसंद नहीं आई तो आप अपना पैसा वापस ले सकते है।

इसके साथ ही इस कंपनी के कस्टमर केयर बहोत अच्छे है। आपकी पूरी हेल्प करते है अगर आपको कुछ भी दिक्कत हो तो ! लेकिन ये कंपनी आपको  24×7 घंटे मदद का वादा करते है। लेकिन ऐसा कुछ नहीं है रात के टाइम कस्टमर केयर चैट ऑफ कर देते है। और आप जब भी ऑनलाइन चैट हेल्प लेंगे तो आपको 5-10 मिनट तक वेट करना पड़ता है।

अब बात करते है की होस्टगैटर US बडिया है या होस्टगैटर IN जैसा की मेने उपर bluehost US और bluehost IN के बारे मे बताया था।Screenshot 23

Godaddy

godaddy जो की डोमेन नेम के लिए लिए बहोत ही ज्यादा पोपुलर है ज्यादातर ब्लॉगर डोमेन को godaddy से खरीदते है। क्यों की ये आपको बहोत ही सस्ते दामो मे डोमेन प्रोवाइड करता है। लेकिन अब बहोत से ब्लॉगर इससे web hosting भी खरीद रहे है। और उनका ओपिनियन बहोत अच्छा आ रहा है तो ऐसे मे आप godaddy से भी होस्टिंग खरीद सकते हो।

इसमे आपको स्टार्टर प्लान,इकॉनमी प्लान डीलक्स और अनलिमिटेड प्लान मिलेंगे आप अपनी जरुरत के हिसाब से खरीद सकते है। godaddy plan