टेक्नोलॉजी क्या है? इसके फायदे एवं नुकसान क्या है

What is Technology? What are its advantages and disadvantages

टेक्नोलॉजी क्या है? (what is technology)

टेक्नोलॉजी का मतलब प्रौद्योगिकी है, इसका मतलब उस तकनीक से है जो हमारी दैनिक कार्यो को आसान बनाये ओर इंसान का बहुत कम हस्तक्षेप हो ऐसे किसी भी यंत्र, युक्ति को हम टेक्नोलॉजी के अंदर सम्मिलित कर सकते है।

टेक्नोलॉजी का मुख्य उद्देश्य कम से कम रेसॉर्स इस्तेमाल करके अधिक से अधिक आउटपुट या रिजल्ट देना है, टेक्नोलॉजी ने हमे आज के समय चौतरफा घेरा है कैसे, आपके पास हो सकता है मोबाइल हो, घर में टेलीविजन, एयरकंडीशनर, कार कंप्यूटर आदि सब इसका एक नमूना है।

टेक्नोलॉजी विज्ञान की देन है, वैज्ञानिकों द्वारा दिन प्रतिदिन आज भी नही टेक्नोलॉजी की खोज की जा रही है, ओर इसका सीधा सा उद्देश्य हमारे लिये एक बेहतर कल बनाने का है, आजसे 500 साल पहले किसी व्यक्ति ने सोचा भी नही होगा कि  हवाई जहाज नाम की चीज़ में भी आगे भविष्य में होगी जिसमें इंसान हवाई सफर कर पायेगा

टेक्नोलॉजी का इतिहास क्या हैं (what is the history of technology)

आदिम काल से ही हमने टेक्नोलॉजी की खोज जाने अनजाने में अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिये करना सुरु कर दिया था।

जैसे कि आग और पहिये का आविष्कार ओर विधुतीकरण का होना, मानव ने जो भी कम अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिये किया, उसी वजह से इसकी सुरुवात हुई, इर धीरे धीरे विज्ञान का जन्म हुआ।

जैसे आज के दौर में हम एक दूसरे से बात करने के लिये अपने मोबाइल में चंद टच करके हजारों किलोमीटर बैठे किसी व्यक्ति से बात कर सकते है, ठीक उसी प्रकार प्राचीन काल में। लोग एक दूसरे तक संदेश पहुँचाया करते थे, आग, जानवर, आदि चीज़ों का सहारा लेकर, प्रौधौगिकी ने आज ये सब बहुत आसान कर दिया है।

हजारो सालों से जैसे मानव का क्रमिक विकास हुआ है, ठीक वैसे ही टेक्नोलॉजी का भी कई चरणों में विकास हुआ। आज जिस कंप्यूटर को हम देखते है, वह सैकड़ो सालों के परिणाम है। यह तक पहुचने के लिये इंसान ने कई चीज़ों का अविष्कार किया है, एक क्रमबद्व तरीके से।

टेक्नोलॉजी के प्रकार कौन कौनसे हैं (what are the types of technology)

अलग अलग क्षेत्रो में टेक्नोलॉजी का योगदान रहा है, टेक्नोलॉजी को हम कई भागों में बांट सकते है। जैसे शिक्षा के क्षेत्र में, संचार, स्वास्थ्य, परिवहन आदि। पर हम कुछ खास प्रकारों के बारे में जानेगे।

इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (information technology)

रिसचर्स ओर वैज्ञानिकों द्वारा की जाने वाली रिसर्च के डेटा, आंकड़े आदि को अलग अलग युक्ति जैसे कंप्यूटर और लैपटॉप आदि में स्टोर करने, ओर उनका आदान प्रदान करना इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कहलाता है। जानकारियों का संग्रह ओर एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में आदान प्रदान करने से कई क्षेत्रों में फायदेमंद रहता है, इसकी लिये हमने IT को एक वरदान माना है।

कृत्रिम बुद्धिमत्ता (Artificial Intelligence)

AI आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एक ऐसी टेक्नोलॉजी है, जो मशीनों को इंसान की तरह चीज़े समझने और खुद में सुधार करने में शक्षम है, आज के समय AI की मदत से बहुत सी चीज आसान हो गयी है। AI का सबसे अच्छा उदहारण है आपके मोबाइल में जब भी कभी आप कोई चीज़ खरीदने के लिये उसे सर्च करते है, तब कुछ दिन तक आपको उससे सम्बंधित विज्ञापन दिखाई देते है, यह सब आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की मदत से सम्भव है।

AI का उपयोग बड़े बड़े उधोगो ओर कारखानों में मशीनरी को कंट्रोल करने और कार्यप्रणाली को सुचारु रूप से चलने के लिये भी किया जाता है।

रोबोटिक्स (robotics)

रोबोटिक्स की मदत से काफी कम आसान हुए है, रोबोटिक्स से चाहे दूसरे गृह का अध्यन करना हो, या ऐसे दुर्गम इलाके जहाँ कुछ रिसर्च करना इंसान के लिये सम्भव नही हो, आज वह रोबोट की मदत से सारे काम आसानी से किये जा रहे है।

बड़ी बड़ी मशीन चीज़ों को एक जगह से दूसरी जगह करना, ऑटोमोबाइल ओर बड़े कारखानों में ऑटोमेशन वाली मशीन जो कि एक बार किसी खास तरह के प्रोग्राम करने पर वह कार्य बिना किसी मानवीय सहायता के कई घण्टो तक लगातार कर सकती है।

स्पेस टेक्नोलॉजी (space technology)

अंतरिक्ष में जाने के लिये जो स्पेस शटल ओर अंतरिक्ष के वातावरण का अध्ययन करने के लिये तथा दूसरे ग्रहों ओर अंतरिक्षीय ऊर्जा के अध्ययन के लिये जो टेक्नोलॉजी यूज़ की जाती है, उसे स्पेस टेक्नोलॉजी कहते है। यह सबसे जटिल प्रौधोगिकी है, क्योकि इसमे बहुत सारी ऊर्जा ओर संसाधनों का इस्तेमाल किया जाता है।

इंटरनेट ऑफ थिंग्स (internet of things)

ऐसे डिवाइस जिनके अंदर सेंसर, सॉफ्टवेयर, आदि को जोड़ करने इंटरनेट के साथ कनेक्ट करके, दूसरे ऐसे ही डिवाइस के बीच डेटा ट्रांसफर ओर कनेक्ट किया जाता है, IoT कहलाते है।

IoT आजके दौर में मनोरंजन के लिये बहुत यूज़ किये जाते है, स्मार्ट डिवाइस भी IoT का ही हिस्सा है।

आर्किटेक्चर टेक्नोलॉजी (architecture technology)

इसे बिल्डिंग टेक्नोलॉजी भी कहा जाता है, इसमे बड़ी बड़ी इमारतों की डिज़ाइन, उनके अंदर इस्तेमाल उपकरण, इंजिनीरिंग आदि को आर्किटेक्चर टेक्नोलॉजी कहते है। मॉडर्न सिविलाइजेशन में जो भी इमारते ओर अचम्भि करने वाले भवन इसी की देन है।

बायोटेक्नोलॉजी (biotechnology)

स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने में टेक्नोलॉजी का बहुत बड़ा योगदान है, काफी बीमारियों के इलाज के लिये जो रिसर्च का डेटा रखा जाता है, उनकी जो गणना कि जाति है ये सब बायोटेक्नोलॉजी की वजह से हुआ बै, इमरजेंसी में जितने भी उपकरण यूज़ किये जाते है, ये सब उसी के अंतर्गत आते है।

चिकित्सा क्षेत्र में टेक्नोलॉजी के काफी तररकी करी है। इसी वजह से आज बड़ी बड़ी बीमारियों का इलाज कर पाना सम्भव हुआ है।

नेनो – माइक्रो टेक्नोलॉजी (nano-micro technology)

यह काफी जटिल टेक्नोलॉजी है, इसमे एक माइक्रो मीटर से छोटे चिप आदि के काम किया जाता है, जैसे बड़े बड़े कंप्यूटर और मोबाइल के लिये चिप बनाना मदरबोर्ड आदि बनाना, यह काफी शुक्ष्म तकनीकी है। फाइबर ऑप्टिक्स भी इसी का एक उदाहरण है।

3D प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी (3D Printing Technology)

इसे CAD मॉडल ओर डिजिटल 3D मॉडल कहा जाता है, इसमे किसी फ़ोटो या वर्चुअल चीज़ को 3d प्रिंटर की मदत सर प्रिंट करके बना दिया है, इसका सबसे बेहतरीन नमूना है “दुबई में बनाया गया म्यूजियम” हालांकि अभी इसका प्राम्भिक चरण है। लेकिन इसके परिणाम काफी बेहतर है।

टेक्नोलॉजी के फायदे क्या हैं (What are the advantages of technology)

तकनीकी शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन, मनोरंजन आदि में टेक्नोलॉजी के बहुत से फायदे देखने की मिलते है। इर हमे इसके सही इस्तेमाल की बढ़ावा देना चाहिये, ताकि हम कई आयामो को खोज सके।

  • आईसीटी, आईसीटी का उपयोग करने के बहुत से फायदे हुए है, जैसे आज इंटरनेट की पहुच हर व्यक्ति तक ही गयी है इन्फॉर्मेशन ओर कंम्यूनिकेशन टेक्नोलॉजी, आईसीटी की मदत सर हम सब एक दूसरे सर बेहतर तरीके से जुड़े है, दूरदराज इलाको में लोगो के लिये काफी सहूलियत हुई है, एक देश के पहनावा, खाना और संस्कृति आदि हम मिनटो में मोबाइल या कंप्यूटर और देख सकते है, ओर हमारे विचार व्यक्त कर सकते है।
  • तकनीकी शिक्षा, तकनीकी शिक्षा में टेक्नोलॉजी के कई लाभ हुए है, अब स्कूल और कॉलेजों में पढ़ाई ऑनलाइन करवाना हो या, एक प्रोजेक्टर पर चीज़े चित्रों ओर वीडियोस की मदत से समझना हो। ये सब टेक्नोलॉजी की मदत से सम्भव हुआ है, टेक्नोलॉजी की वजह से आज अध्ययन करने की कोई सीमाएं नही रही है, अब स्कूल के बच्चे ऑनलाइन कॉलेज में पढ़ाई जाने वाली चीज़े पढ़ सकते है, ओर उनकी तैयारी पहले ही कर सकते है।
  • उधोगो, उधोगो में भी टेक्नोलॉजी का बहुत बड़ा योगदान रहा है, अब बड़े बड़े भारीभरकम चीज़ों को उठाना ओर लाना ले जाना बहुत ही आसान हो गया है। उधोगो में मानवीय श्रम कम हुआ है, क्योकि अब ज्यादा से ज्यादा मशीनरी ही काम ली जाती है।
  • चिकित्सा क्षेत्र में भी टेक्नोलॉजी का बहुत बड़ा फायदा हुआ है, लाइलाज बीमारियों की दवा बनाने से लेकर, जटिल ऑपरेशन मशीनों के जरिये करना हो या, एक देश में बैठे डॉक्टर का दूसरे देश में बैठे मरिज का इलाज करना, बहुत ही आसान हो गया है।
  • परिवहन, परिवहन में भी टेक्नोलॉजी ने काफी अच्छी तरकी की है, बायो फ्यूल जैसा कांसेप्ट लाया जा रहा है, पेट्रिल ओर डिसल जैसे वाहनो की जगह अब इलेक्ट्रिक वाहन यूज़ किये जा रहे है, ऐसे वाहन बनाये जा रहे है जी की हर परिस्थितियों में यात्रा कर सकते है चाहे रास्ते कितने ही दुर्गम हो। गांवों और शहरो के बीच कनेक्टिविटी में काफी सुधार हुआ है।
टेक्नोलॉजी के नुकसान क्या हैं (What are the disadvantages of technology)

ऐसा नही है कि टेक्नोलॉजी के इतने सारे फायदे है और नुकसान नही है, प्रौद्योगिकी के भीषण नुकसान है। जहाँ इसका अच्छे कामो में यूज़ होता है, वही कुछ लोग इसका गलत इतेमाल भी करते है जिसके परिणाम बहुत भयानक है। चलिये जानते है इसके बारे में विस्तार से। की प्रौद्योगिकी के क्या क्या नुकसान है।

  • आईसीटी का नुकसान, इसकी मदत से चोरी करना लोगो के बैंक खातों से लूटपाट करना, अब बहुत आसान हो गया है, एक opt शेयर करने से आपके बैंक खाते है, या मोबाइल और कंप्यूटर में रखी पूरी जानकारी और पैसे सामने बैठे व्यक्ति के पास चली जाती है।
  • स्वास्थ्य में टेक्नोलॉजी का बहुत बड़ा नुकसान है, आज लोग घंटो अपने मोबाइल और कंप्यूटर की स्क्रीन पर लगे रहते है, शारिरिक गतिविधियों में बहुत कम भाग लिया जाता है, इसकी वजह से काजी बीमारियां हो रही है, आजकल से बच्चो में भी ये देखा जाता है, एक ADHD नामक बीमारी तो लगभग हर बच्चे को हो रही है।
  • आतंकी कार्यो में टेक्नोलॉजी की वजह से काफी बढ़ावा मिला है, ऐसे में काफी लोगो के लिये खतरा बना रहता है। एक देश से दूसरे देश के सम्बंध खराब होते दिख रहे है, जिसका खामियाजा आम लोगो को भुगतना पड़ रहा है, इसमे भी टेक्नोलॉजी का बहुत बड़ा योगदान है।
  • मानशिक बीमारियों का बढ़ना भी टेक्नोलॉजी की है देन है, मिलननिअल्स में मानसिक बीमारियों का मिलना आम ही गया है, एक दूसरे से सम्बंध खराब होते है दिख रहे है क्योकि लोग एक दूसरे से मिलने और बात करने से ज्यादा ऐसी इंटरनेट की ऐसी दुनिया में रहना पसंद करते है, जिसका कोई अस्तित्व नही है। इसी वजह से मानवीय सम्बंध खराब होते जा रहे है।