सोशल मीडिया क्या है?, इसके फायदे और नुकसान

what is social media

सामाजिक संचार के द्वारा लोगों के साथ आपस में जुड़ना। ये ठीक भौतिक नेटवर्क के तरह ही बस गया है ये नेटवर्क ऑनलाइन में होता है। चूँकि अभी का जमाना ऑनलाइन का है इसलिए लोग आपस में बातचीत करने के लिए, संपर्क बढ़ाने के लिए या अपने पसिंडा चीज़ों और सूचना के इंटरैक्शन प्रदान के लिए इस सोशल मीडिया का इस्तमाल करते हैं। बहुत बार ये पाया गया है की हमारे बहुत से दोस्त और रिश्तेदार हमारे पास नहीं रहते हैं और कुछ तो विदेश में रहते हैं, इसलिए उनके साथ बातचीत करना और दोस्ती बनाए रखना में सोशल मीडिया हमारे बहुत काम में आता है।

सोशल मीडिया क्या है? (What is social media.)

सोशल मीडिया को सोशल मीडिया सेवा के नाम से भी जाना जाता है। इसका मतलब है की इंटरनेट का इस्तमाल कर अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ जुड़ना। जहाँ आप एक दुसरे के साथ दोस्ती, संबंध, शिक्षा, हितों का आदान प्रदान करते हैं। इससे हम देश विदेश में घट रही घटनाओं के विषय में जान सकते हैं। इसके साथ हम एक दूसरों के हितों के बारे में जान सकते हैं और उन्हें भी कर सकते हैं।

    •  Basic
      आम तोर से सोशल मीडियािंग सेवाओं के उपयोगकर्ताओं को प्रोफ़ाइल बनाने के लिए अनुमति देते हैं।
      1. आंतरिक सोशल मीडिया (ISN)
      2. बाहरी सोशल मीडिया (ESN)

आंतरिक सामाजिक मीडिया (ISN)
ISN मुख्य रूप से बंद और निजी समुदाय होता है जहाँ कहीं की छोटी मात्रा या कम मात्रा में लोग जुड़े रहते हैं, ये उन्ही लोगों के बिच में एक समुदाय के तरह होता है। यहाँ इस नेटवर्क में जुड़ने के लिए “निमंत्रण” की आवश्यकता पड़ती है। और केवल निमंत्रण मिलने पर ही आप इन जुड सकते हैं। उदहारण के तोर पर कोई शिक्षा समूह, फोटोग्राफी समूह या हैकिंग समुदाय या कोई गुप्त फोरम नहीं है।

बाहरी सामाजिक मीडिया (ESN)
वहीँ ESN मुख्य रूप से खुले और सार्वजनिक समुदाय होते हैं जहाँ पर बड़ी मात्रा या बड़ी धरण में लोग जुड़े रहते हैं, ये भी इन्ही लोगों के बिच एक समुदाय के तरह होता है। यहाँ इस नेटवर्क में कोई भी जुड हो सकते हैं जो की इससे जुड़ना चाहते हैं। ये मुख्य रूप से विज्ञापनदाताओं को अपनी और आकर्षित करते हैं चूँकि यहाँ ज्यादा ट्रैफिक मेहज़ुद रहता है। यहाँ उपयोगकर्ता अपनी तस्वीर जोड़ कर कर सकते हैं और दुसरे लोगों के साथ “दोस्त” भी बन सकते हैं। उदहारण के तोर पर फेसबो, ट्विटर, इंस्टाग्राम, माइस्पेस, पूछो इत्यादि।

सोशल मीडिया की विशेषताएँ (Social media features)

सोशल मीडिया सेवा मुख्यतः वेब आधारित सेवा हैं। जो की लोगों को अनुमति देते हैं वे एक सार्वजनिक या अर्ध-सार्वजनिक प्रोफ़ाइल बनाने के लिए एक सीमित प्रणाली के भीतर हैं। इसके साथ उन्हें ये सुविधा मिलती है की कैसे अपनी सामग्री को दूसरों के साथ साझा करने की सुविधा प्राप्त होती है। ये कनेक्शन के स्वभाव और नामकरण एक साइट से दुसरे में भिन्न होते हैं। इसके साथ इससे हमें एक दुसरे के साथ मिलने में सहायता मिलती है और जो चीजें हम अपनी आवाज के द्वारा बता नहीं सकते उन्हें इसकी मदद से हम दूसरों तक वह संदेश पहुंचा सकते हैं।

सोशल मीडिया को बिजनेस मॉडल तोर पर कैसे इस्तमाल किया जाता है?

ये तो हम भली भांति जानते हैं की जहाँ भी अच्छे ट्रैफ़िक होते हैं वहाँ पर केवल अच्छा व्यवसाय मॉडल तैयार किया जा सकता है। ठीक उसी तरह से सामाजिक नेटवॉक पर भी पृष्ठ और समूह की अवधारणा मेह्जुद हैं। यदि आपके खाते पर ज्यादा लोग मेह्जुद हैं तो आप उसे एक पेज में बदल सकते हैं। इससे उन विज्ञापनदाताओं को जो आपके विज्ञापनों को देने के लिए आपसे संपर्क कर सकते हैं इस तरह से आप अपने सोशल अकाउंट पर अच्छा बिजनेस स्टैंड कर सकते हैं।

सोशल मीडिया के प्रकार क्या है? (What is the type of social media)

  1. व्यवसाय एप्लिकेशन
    सोशल मीडिया का सही रूप से इस्तमाल कर उद्यमी और छोटे व्यवसाय के लिए बहुत लाभदायक है। इससे वे बहुत लोगों के साथ मिलकर अपने व्यापार को बड़ा कर सकते हैं। सोशल मीडिया का इस्तमाल वह अपने उत्पादों की विज्ञापन भी कर सकते हैं। क्यूंकि सोशल मेडियास प्रो दुनिया में संचालित होते हैं इसलिए इसकी मदद से हम दुनिया के किसी भी देश में स्तिथ लोगों के साथ संपर्क कर सकते हैं और अपना व्यवसाय बढ़ा सकते हैं।
  2. चिकित्सा अनुप्रयोगों
    बहुत से स्वास्थ्य पेशेवरों के द्वारा सामाजिक मेडियास इस्तमाल अपने संस्थागत ज्ञान को प्रबंधित करने में लगाते हैं। इससे वे अपने डॉक्टरों और संस्थानों को लोगों के सामने उजागर कर सकते हैं। इसके साथ वह अपने ज्ञान को भी दुसरे लोगों के साथ साझा कर सकते हैं।
  3. अनुसंधान
    सोशल मीडिया सेवाओं का इस्तमाल आपराधिक और कानूनी जांच के लिए अब किया जा रहा है। सूचना जो की साइटों जैसे की माइस्पेस और फेसबुक में स्तिथ होते हैं उन्हें पुलिस के द्वारा जांच में किया जाता है।
  4. सोशल मीडिया का इस्तमाल सामाजिक भलाई के लिए
    बहुत से समाज सेवा सही तरीके से सोशल मीडिया का इस्तमाल करते हैं क्यूंकि वो ये भली भांति जानते हैं की सोशल मीडिया पर बहुत ही ज्यादा लोग आते हैं और अच्छे पोस्ट की तलाश करते हैं। इससे अगर वह अपनी सामाजिक सेवा के बारे में उनसे बात करें तो हो सकता है कि कुछ लोग उनसे इस अच्छे काम में जुड़ने के लिए गांधी हो जाएँ। इससे उनके दर्शकों की संख्या और भी बढ़ जाती है और उनके अनुयायी भी। एक साथ ज्यादा जैसे दिमाग वाले लोग (समान सोच के लोग) काम करने से वो बहुत से नामुमकिन लगने वाले लक्ष्य को भी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

सोशल मीडिया के इस्तमाल के जोखिम क्या हैं?

जहाँ सोशल मेडियास की इस्तमाल हमें बहुत सारे कब्जितों के लाभ उठाने में मदद करती है जैसे की अपने दोस्तों के साथ संपर्क बढ़ाना, दुनिया के विषय में निकट से जानना, संस्कृतियों के बारे में जानना, लंबी दूरी के रिश्ते इत्यादि। वहीँ ये कई ऐसे जोखिम भी हैं जिनके साथ लता है जिनके बारे में हमें बहुत जरुरी जानना है।

वे कहते हैं कि न की सूचियों के दो पहलु होते हैं उसी तरह सामाजिक मेडिया को इस्तमाल करना भी उतना ही जोखिम भरा बन सकता है अगर हम ये न जानें की उसे किस तरह से इस्तमाल किया जाए। क्यूंकि ऑनलाइन में ऐसे बहुत से धोखाधड़ी और छेड़छाड़ करने वाले हमें मिल सकते हैं जो की दोस्त होने का नाटक कर हमें फसा सकते हैं और हमसे गलत काम करवा सकते हैं। तो चलिए इसी के विषय में कुछ और जानते हैं।

सोशल मीडिया के लाभ (Benefit of social media)

सोशल मीडिया को एक संरचना के जैसे हम देख सकते हैं जहां लोग विभिन्न प्रकार के रिश्ते को बनाए रखते हैं जैसे की दोस्ताना, काम, वाणिज्यिक, जानकारीपूर्ण इत्यादि। लेकिन अभी तक ये इंटरनेट एक मौलिक उपकरण बन गया है, संचार का, जहां की छात्रों से लेकर बड़ी कंपनियों तक, राजनेताओं से और पुलिस निगमों तक; अपने किसी भी पसंदीदा विषय के बारे में जाँच करने के लिए, या कोई लेनदेन को पूरा करने के लिए या किसी दोस्त के साथ बातचीत करने के लिए इसका इस्तमाल करता है। इसलिए यदि इसका सही तरीका से इस्तमाल अगर नहीं किया गया तो ये हमारे ऊपर हावी भी हो सकते हैं।

    • सोशल मीडिया का इस्तमाल कोई चीज़ की विज्ञापन करने के लिए किया जा सकता है।
    • स्कूल की गतिविधियों को भी आसानी से किया जा सकता है, जहाँ की सभी सदस्य अगर अलग अलग काउंटी के हों तो भी।
    • अगर हमारे रिश्तेदार या दोस्त अगर कहीं दूर में रह रहे हैं तो भी हम सोशल मीडिया के मदद से उनसे आसानी से संपर्क कर सकते हैं और वो भी बहुत कम खर्चे में।
    • यहाँ तक की हम दुसरे शहरों, राज्यों या देशों में स्तिथ लोगों के साथ भी सहभागिता कर सकते हैं।
    • उन्हें हम विविध फाइलें (जैसे की तस्वीरें, दस्तावेज, इत्यादि) आसानी से भेजते हैं और पा सकते हैं।
    • नए दोस्त बना सकते हैं जो की किसी दुसरे संस्कृति का हो। वास्तविक समय में बातचीत करने में मदद करता है।
    • सामाजिक मीडिया की मदद से आजकल राजनीतिक दल अपना ऑनलाइन कैंपिंग चला रहे हैं।यहाँ पर हम चर्चा और बहस मंचों तैयार कर सकते हैं और आपस में बातचीत कर सकते हैं।ये हमें सहयोगी शिक्षण करने के लिए मदद करता है।
    • ये वाणिज्यिक नेटवर्क को मदद करता है लोगों को अपने उत्पादों तक पहुँचाने के लिए।इससे पुलिस को भी अपनी जांच को सुचारू रूप से करने के लिए मदद मिलती है।

सोशल मीडिया के नुकसान (Social media disadvantages)

    • गोपनीयता एक बहुत बड़ा मुद्दा है सोशल मेडियास का।
    • यहां कोई भी अज्ञात और खतरनाक व्यक्ति आपकी सभी व्यक्तिगत जानकारी की पहुंच प्राप्त कर सकता है और जिसका वह बाद में गलत इस्तमाल भी कर सकता है।
    • इसके इस्तमाल से आप अपने को अपने परिवार और दोस्तों से अलग करने लगते हो क्युंकिन आप अपना बहुत सारा समय ऑनलाइन में व्यक्त करते हो।
    • सोशल मीडिया में प्रवेश करने के लिए आप अपने युग को गलत भी बता सकते हैं जिससे आपका अंजाने में ही सही आप खुद को ऑनलाइन मोलेस्टर के करीब ले जाएं। क्यूंकि आपको इस छोटी उम्र में उतनी समझ नहीं आती है और जिनके गलत इस्तमाल वो लोग उठा सकते हैं।
    • नकली खाता बनाने की संभावना अधिक बढ़ जाती है। ये आपके अनजाने में सही आपको अपने पक्ष में खींचती रहती है और बाद में आप इसके गुलाम बन जाते हैं। वास्तविक संबंध को इससे बहुत हनी पहुँचती है।
    • कंप्यूटर और गैजेट्स के ज्यादा इस्तमाल से आपके स्वास्थ्य पर भी ख़राब असर पड़ता है।

सोशल मीडिया का भविष्य क्या है? (What is the future of social media)

हम तकनीकी दुनिया में जी रहे हैं जहां की हमारी इस्तमाल की सभी चीजों से प्रौद्योगिकी पूर्ण हैं। इसलिए सोशल मीडिया का भविष्य भी काफी उज्जवल है। इसका इस्तमाल कुछ वर्षों में काफी बढ़ गया है। आज लोग अपने पड़ोसियों के बारे में कम लेकिन दूसरों के पड़ोसियों के बारे में ज्यादा जानते हैं। देखा जाए तो ये सोशल मीडिया और कुछ नहीं बस आभासी दुनिया में हो रहे संचार को कहा जाता है। जहाँ पर हमारे लगभग बहुत सारे दोस्त होते हैं, समुदायों में इत्यादि हैं। धीरे धीरे सभी चीज़ीं आभासी दुनिया के तरफ ज्यादा बढ़ रही हैं। ऐसे में वे दिन दूर नहीं जब हमारी सारी चीजें सोशल मीडिया में उपलब्ध होंगी।

 स्मार्ट ऑनलाइन शॉपिंग कैसे करें?
SHARE