जियो क्या है? और यह कैसे काम करता है।

what is jio

जिओ क्या है। Jio किसी की तारीफ की मोहताज़ नहीं क्यूंकि आज बच्चा बच्चा जानता है की इंटरनेट का मतलब है जिओ। वैसे तो इंटरनेट चलाने के माध्यम तो बहुत सारे हैं जैसे ब्रॉडबैंड, BSNL की लैंडलाइन, TIKONA लेकिन उतना खर्च कोई उठा नहीं सकता। भारत की आबादी बहुत है और ज्यादातर लोग मध्यम वर्ग के परिवार के होते हैं। इस स्थिति में हाई स्पीड इंटरनेट का उपयोग सभी के निपटान की बात नहीं है। सिर्फ बिज़नेस करने वाले या फिर इंटरनेट से जुड़े काम करने वाले लोग ही अच्छी इंटरनेट की स्पीड उठा पाते हैं। ऐसा वक़्त तब तक रहा जब तक Jio लॉन्च नहीं हुआ। जिओ के भारत में लॉन्च होते ही एकदम से सबकुछ बदल गया।

5 सितंबर 2016 का दिन भला कौन भूल सकता है जिस दिन भारत में इंटरनेट के क्षेत्र में सबसे अनोखा कदम उठाया गया और इस दिन Jio भारत के लोगों के लिए मुफ्त में सेवा की शुरुआत की गई। लोगों को विश्वास नहीं होता था जिसे भी कहा जाता था। की भाई जिओ हर दिन 4 जीबी हाई स्पीड इंटरनेट डेटा और मुफ्त कॉलिंग सेवा दे रहा है वह भी बिलकुल मुफ्त है। लेकिन यह ज्यादा वक़्त पर नहीं रखा गया और लोगों की भारी भीड़ को रिझाने के लिए Jio Store के बाहर उमड़ पड़ी। इसने एक करिश्मा की तरह लोगों को सेवाएं देना शुरू कर दिया तो ये तो जरुरी हो गई की हम इसके बारे में जान लें की आखिर ये सेवा कैसे शुरू हुई और इसका इतिहास क्या है।

जिओ क्या है? (What is Jio)

हमारे देश भारत की बहुत बड़ी मोबाइल नेटवर्क ऑपरेटर कंपनी है। इसे सभी जिओ के नाम से जानते हैं क्यूंकि इसी नाम से यह सेवा शुरू की गई थी। ये Relaince Industries की एक शाखा जिसका हेडक्वार्टर मुंबई में है। Reliance Jio कंपनी ने केवल भारत में पहली बार लोगों को 4G LTE Services और VoLTE (Voice over LTE) की सेवा की शुरुआत की।

Reliance Jio एक ऐसी सिम जिसने टेलीकॉम सेक्टर में धमाका कर रखा है और भारत की जनता इसे काफी पसंद भी कर रही है। इसमें 4 जी सुविधाओं के साथ ही अन्य कई विशेषताएं भी शामिल हैं, जो आम जनता की जीवन को डिजिटल बना देती हैं।

धीरूभाई भी अंबानी के 83 वें जन्मदिन के अवसर पर जिओ सॉफ्ट कंपनी को 27 दिसंबर 2015 को स्थापित किया गया। Jio सिम के साथ सिर्फ डेटा, मैसेजिंग और कॉलिंग ही मुफ्त नहीं मिलती है बल्कि इसके साथ हज़ारों रुपये के उत्पादों को भी दिया जाता है। यह सभी सेवाएँ आम जनता के लिए बिल्कुल मुफ्त हैं।

जिओ का फुल फॉर्म क्या है? 

वैसे इस सवाल का जवाब बहुत सारे लोग ढूंढते हैं, की आखिर जिओ का फुल फॉर्म क्या होता है। Reliance Jio ने तो ऑफिशियली इसका कोई फुल फॉर्म नहीं दिया है। लेकिन इमेजिनरी तोर पर इसे Joint Implementation Opportunities बोलते हैं जिसका कोई प्रूफ नहीं की ये सही है।

जिओ का इतिहास क्या है? (History of Jio)

Reliance Industries Ltd (RIL) ने जून 2010 में 4800 करोड़ रुपये में Infotelfly निर्देशन लिमिटेड (IBSL) की 96% की शेयर खरीद ली। इसी तरह एक साल पहले ही 4 जी की नीलामी में IBSL भारत के सभी 22 जोन के ब्रॉडबैंड स्पेक्ट्रम जितने वाली एकमात्र कंपनी थी। बाद में चलकर वह रिलेनैस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की सहायक कंपनी के तोर पर काम किया। फिर से जनवरी 2013 में इंफोटेलरी सर्विसेज लिमिटेड का नाम बदलकर रिलायंस जिओ इंफोकॉम लिमिटेड (RJIL) रख दिया गया।

    • 4 जी एलटीई सक्षम स्मार्टफोन बनाने के लिए रिलायंस इंडसट्रीज ने इंटेक्स के साथ पार्टनरशिप की।
    • रिलायंस ने अक्टूबर 2015 में अपने खुद के ब्रांड का स्मार्टफोन LYF के बारे में घोषणा की थी।
    • इसके बाद 27 दिसंबर 2015 में कस्टमर को सेवा देने के पहले रिलायंस जियो सर्विसेज के बीटा वर्जन को अपने कर्मचारियों के लिए लॉन्च कीया।
    • 25 जनवरी 2016 को पानी 1 मॉडल के साथ LYF श्रृंखला का पहला स्मार्टफोन मार्किट में उतारा गया।
    • मार्च 2016 में ICC वर्ल्ड T20 टूर्नामेंट के होस्ट होने वाले 6 क्रिकेट स्टेडियम में होने वाले मैच में Reliance ने फ्री wifi सेवाओं को शुरू किया।
    • इसने मई 2016 में Google Play Store में मल्टीमीडिया ऐप्स के पैकेज को लॉन्च किया।
    • 5 सितंबर 2016 एक ऐतिहासिक दिन बन गया जब जिओ ने वेल कम ऑफर के रूप में पहली बार Jio 4G की सेवा आम जनता के लिए देनी शुरू की। दिन प्रतिदिन लोग इससे जुड़ने लगे क्योंकी उस वक़्त ये सेवा बिलकुल मुफ्त थी।
    • इसके बाद नए साल के लिए हैप्पी न्यू ईयर प्लान की शुरुआत की गई उसी साल 31 मार्च को प्राइम मेंबरशिप की शुरुआत भी हुई जिसके तहत यूजर को नए नए ऑफर भी दिए जाने लगे। साथ ही सभी योजनाओं को भी लोगों के लिए सस्ते पैक्स के रूप में उपलब्ध करा दिया गया है।
    • दूसरी सभी कंपनियों ने भी अपने इंटरनेट की दरों को कम कर के अपने उपभोक्ताओं को रिझाने की कोशिश की, ज्यादातर लोगों को फायदा ही हुआ।

जिओ सिम लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज़ (Reliance jio sim required documents)

    • व्यक्तिगत पहचान पत्र
    • दो पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ
    • आवासीय प्रमाण पत्र
    • आधार कार्ड

जिओ सिम को ऑनलाइन कैसे पायें (How to get jio sim online)

    • सबसे पहले https://www.jio.com/ वेबसाइट पर जाएँ।
    • पेज पर दिए गये ‘रजिस्टर इंटरेस्ट’ विकल्प पर जाकर माँगी जाने वाली जानकारियां भरें।
    • यदि रजिस्ट्रेशन के समय सिम ऑनलाइन उपलब्ध हो तो, ग्राहक को कंपनी द्वारा कांटेक्ट किया जाएगा।

जिओ ऑफलाइन कैसे पायें (How to get jio sim offline)

    • सर्वप्रथम सभी आवश्यक दस्तावेज़ों को इकठ्ठा करें और अपने नजदीकी जिओ शोरूम में जाएँ।
    • शोरूम से एक जिओ फॉर्म दिया जायेगा जिसे भर कर दस्तावेज़ों के प्रतिलिपि के साथ जमा करना होता है. ये दस्तावेज़ स्वअभिपत्रित (सेल्फ अटेस्टेड) होना आवश्यक हैं।
    • इन औपचारिकताओं के पूरे हो जाने के बाद आपको मुफ्त जिओ सिम प्राप्त हो जाएगा. सिम चालू होने में कुछ अधिक समय लग सकता है, क्योंकि देश में कई लोग एक साथ ये सुविधा उठा रहे हैं।

रिलायंस जिओ के प्लान (Reliance jio plans)

हालाँकि अभी तक जिओ के लिए रिचार्ज कराने की नौबत नहीं आई है, किन्तु मुफ्त सेवा के बाद शुरू होने वाले सस्ते सेवाओं से परिचित कराने के लिए जिओ ने कई आकर्षक प्लान तैयार कर रखे है। जिओ अपने ग्राहकों को कई अलग- अलग कीमतों पर बेहतर से बेहतर प्लान देती है।

jio e1603953645965

  • 149 रू के बेस प्लान से मिलने वाले लाभ : जिओ के बेस प्लान का लाभ उठाने वाले ग्राहकों को मात्र 149 रू में मिलने वाली सुविधाएँ हैं –
    • 300 एमबी 4G डेटा
    • मुफ्त अनलिमिटेड एसटीडी और लोकल कॉल
    • 1250 रूपये वाले जिओ ऐप का मुफ्त सब्सक्रिप्शन
    • मुफ्त 100 लोकल तथा एसटीडी एसएमएस
  • 499 रू के प्लान से मिलने वाले लाभ : 499 रूपये से रिचार्ज करवाने पर प्राप्त सुविधाएँ निम्नलिखित हैं :
    • 4 GB 4G डेटा के साथ रात्रि में अनलिमिटेड डेटा
    • मुफ़्त लोकल तथा एसटीडी कॉल
    • 8 GB जिओ नेट वाई- फाई हॉट्सपॉट के लिए
    • मुफ्त लोकल तथा एसटीडी एसएमएस की सुविधा
  • 999 रू के प्लान से मिलने वाले लाभ : 999 रूपये के रिचार्ज से मिलने वाली मुख्य सुविधाएँ ये है –
    • 10 GB 4G डेटा तथा रात्रि के समय अनलिमिटेड डेटा
    • मुफ्त अनलिमिटेड लोकल तथा एसटीडी कॉल
    • 20 GB जिओ नेट वाई फाई हॉटस्पॉट सुविधा के लिए
    • इस प्लान के साथ 99 रूपये में 1 GB 4G डेटा प्राप्त होगा
  • 2,499 रू के प्लान से मिलने वाले लाभ : 2,499 रूपये के रिचार्ज से प्राप्त मुख्य सुविधायें इस प्रकार हैं-
    • 35 GB 4G डेटा रात्रि के समय अनलिमिटेड डेटा के साथ
    • देश भर में मुफ्त वौइस् कॉल तथा एसएमएस
    • 70 GB जिओ नेट वाई- फाई हॉटस्पॉट

इसके बाद भी 3,999 रूपये तथा 4,999 रूपये के प्लान मौजूद हैं, जो इन्हीं सुविधाओं को अधिक डेटा बैलेंस के साथ प्रदान करते हैं।

प्रीपेड यूजर के लिए डाटा प्लान

रिचार्ज की क़ीमतप्राइम सदस्यों को लाभनॉन- प्राइम सदस्यों को लाभ
रू 19200 MB/ 1 दिन100 एमबी/ 1 दिन
रू 49600 MB/ 3 दिन300 MB/ 3 दिन
रू 961 GB/ 7 दिन600 MB/ 7 दिन
रू 1492 GB/ 28 दिन1 GB/ 28 दिन
रू 30330 GB/ (प्रतिदिन 1 GB) 28 दिन2.5 GB/ 28 दिन
रू 49958 GB/ अनलिमिटेड/ 28 दिन5 GB/ 28 दिन
रू 99960 GB/ अनलिमिटेड/ 28 दिन12.5 GB/ 28 दिन
रू 1,999125 GB/ 90 दिन30 GB/ 30 दिन
रू 4,999350 GB/ 180 दिन100 GB/ 30 दिन
रू 9,999750 GB/ 1 वर्ष200 GB/ 1 वर्ष

रिलायंस जिओ एप्लीकेशन (Reliance jio application)

इन्टरनेट की सुविधा बढाने के साथ जिओ ने कई तरह के एप्लीकेशन भी लॉन्च किये। इन सभी एप्लीकेशन को एक साथ गूगल प्ले स्टोर से प्राप्त किया जा सकता है। इन एप्लीकेशन के प्रयोग के लिए यूजर के पास जिओ सिम कार्ड होना अतिआवश्यक है।

माई जिओजिओ अकाउंट को संचालित करने हेतु
जिओ टीवीलाइव टीवी चैनल सर्विस
जिओ सिनेमाऑनलाइन एचडी विडियो लाइब्रेरी
जिओ चैट मेसेंजरचैट एप्लीकेशन
जिओ म्यूजिकम्यूजिक एप्लीकेशन
जिओ 4G वौइस्वोल्टी कॉल के लिए
जिओ मैग्सई – मैगज़ीन
जिओ एक्सप्रेस न्यूज़समाचार एप्लीकेशन
जिओ सिक्यूरिटीसिक्यूरिटी एप्लीकेशन
जिओ ड्राइवबैक- अप टूल एप्लीकेशन
जिओ मनी वॉलेटऑनलाइन पेमेंट वॉलेट एप्लीकेशन
जिओ स्विचफाइल ट्रान्सफर एप्लीकेशन

रिलायंस जिओ टावर इंस्टालेशन (Reliance jio tower installation)

अब लोग अपनी सोसाइटी में जिओ टॉवर स्थापना भी कर सकते हैं। इसके लिए ऑफलाइन आवेदन दिया जा सकता है। जिओ की बढती उपयोगिता को देखते हुए कंपनी ने देश भर में जिओ टावर बैठाने का फैसला लिया है। अतः जो लोग अपनी ज़मीन जिओ टॉवर के लिए भाड़े पर देना चाहते हैं आवेदन दे सकते हैं।

    • रिलायंस जिओ टावर के लिए जगह मासिक किराये पर दी जा सकेगी।
    • जिओ की तरफ से प्रति महीने अधिकतम 5000 रूपये तक किराया मिल सकेगा।
    • इसके लिए आवेदन RJIL (रिलायंस जिओ इन्फोकॉम लिमिटेड) में दिया जायेगा।
    • टावर के लिए न्यूनतम 2000 स्क्वायर फीट की आवश्यकता होगी।
    • टावर इंस्टालेशन के लिए क्षेत्र के पंचायत समिति या अन्य समरूप समीति से आज्ञा लेना अनिवार्य है।
    • इसके लिए बिल्डिंग के रूफ़ टॉप को भी काम पर लगाया जा सकता है. रूफ़ टॉप में कम से कम 500 स्क्वायर फीट की जगह होनी चाहिए।
    • आवेदन के बाद यदि कंपनी को लगता है कि इस क्षेत्र में टावर की आवश्यकता है, सिर्फ और सिर्फ तभी आवेदक की जगह पर टावर बैठाया जाएगा।

रिलायंस जिओ इस्तेमाल के फायदे क्या है?(Reliance jio sim benefits)

जिओ कनेक्शन ने लोगों को विभिन्न तरह से लाभ पहुँचाया। कॉल हो या डेटा प्लान, म्यूजिक हो या फ़िल्म, लाइव टीवी हो या लाइव मैच, जिओ ने अपने ग्राहकों को हर तरह से लाभ पहुँचाया है।

    • सस्ते स्मार्ट फ़ोन की सुविधा : जिओ ने अपने अंतर्गत 4G LTE स्मार्ट फ़ोन लॉन्च किये। ये स्मार्ट फ़ोन हर तरह की क़ीमत पर उपलब्ध किये गये, ताकि अधिक से अधिक लोग भारत को डिजिटल बनाने में अपना योगदान दे सकें।
    • डिजिटल शिक्षा : जिओ की बेपनाह इन्टरनेट सेवा का प्रयोग कर एक स्थान के विद्यार्थी किसी दुसरे स्थान के शिक्षकों से जुड़ सकते हैं।  कई तरह के एजुकेशनल वेबसाइट पर जा कर तरह तरह की शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।
    • सोशल संपर्क : जिओ की सहायता से सोशल संपर्क में रहा जा सकता है. 24 घंटे अनलिमिटेड इन्टरनेट सेवा का प्रयोग करके लोग कई सोशल वेबसाइट पर अपनी उपस्थिति दर्ज करा सकते हैं। कई बड़ी हस्तियाँ इन दिनों विभिन्न सोशल वेबसाइट पर मौजूद रहने लगे है। अतः उन्हें फॉलो करने का ये एक अच्छा तरीक़ा हो सकता है।
    • डिजिटल मनोरंजन: जिओ का प्रयोग मनोरंजन के तौर पर सबसे अधिक हो रहा है। जिओ ने इसके लिए एक एप्लीकेशन का ग्रुप भी लॉन्च कर दिया। जिओ चैट एप्लीकेशन के प्रयोग से चैटिंग के साथ वौइस् तथा वीडिओ कॉल भी किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त जिओ प्ले में वीडिओ एप्लीकेशन की सहायता से कहीं भी कभी भी अपनी मन पसंद फ़िल्में देखी जा सकती हैं. जिओ लाइव टीवी के इस्तेमाल से किसी भी समय लाइव टीवी का आनंद उठाया जा सकता है। लाइव टीवी की सहायता से लाइव मैच वगैरह भी देखे जा सकते हैं।

रिलायंस जिओ के नुक्सान(Losses of Reliance Jio)

पिछले साल के सितंबर के महीने में ट्राई (TRAI) ने जिओ और भारत के अन्य टेलिकॉम कंपनी मसलन भारतीयों एयरटेल, वोडाफ़ोन, आईडिया को एक बैठक के लिए आदेश भेजा। इसकी वजह ये थी कि जिओ ने भारत के संचार विभाग में इन कंपनियों के खिलाफ जिओ द्वारा उनके नेटवर्क का इस्तेमाल न कर पाने की शिकायत दर्ज कराई थी। साथ ही जिओ ने यह भी कहा कि बक्ती ऑपरेटर जिओ ने टेलिकॉम मार्केट में प्रवेश करने को अवरुद्ध कर रहे हैं। भारत के संचार विभाग ने इसपर कुछ भी न कहा है ये मामला TRAI के हाथ में सौंप दिया गया और जल्द ही मामले को जल्द सुलझाने को कहा गया। भारत के सेल्युलर ऑपरेटर एसोसिएशन ने इन तीन कंपनियों के साथ इस बैठक में अन्य सभी छोटी-बड़ी टेलिकॉम कंपनियों को भी शामिल करने की बात TRAI से कही। कालांतर में बख़्शी कंपनियों से इस बात पर समझौता हुआ और वर्तमान में इडिया सेल्युलर जिओ को अपने 196 इंटरकनेक्शन एक्सेस पॉइंट इस्तेमाल करने दे रहा है।

SHARE