IMPS क्या है और यह कैसे काम करता है?

what is IMPS

IMPS का फुल फॉर्म है: तत्काल भुगतान सेवा और इसे हम कह सकते हैं कि तत्काल भुगतान सेवा है। IMPS एक ऐसी बैंकिंग भुगतान प्रणाली सेवा है जिसके तहत आप वास्तविक समय में पैसे को एक खाते से दुसरे खाते में भेज सकते हैं। जहां NEFT और RTGS में पैसे भेजने में थोडा समय लगता है वहीँ IMPS के माध्यम से पैसे भेजने पर यह तत्काल ही पूरा हो जाता है, जिससे हमें और बहुत इंतजार करने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम ने सबसे पहले तत्काल भुगतान सेवा (IMPS) की शुरुवात की थी। इस सेवा के द्वारा आप चौबीस घंटे कभी मोबाइल फोन, इंटरनेट, एटीएम के जरिये किसी भी बैंक में इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर कर सकते हैं। इस सेवा को सबसे पहले अगस्त 2010 में एक पायलट प्रॉजेक्ट के तौर पर शुरू किया गया था और बाद में 22 नवंबर 2010 को इसे एक पूर्ण सेवा के तौर पर लॉन्च कर दिया गया था। हालाँकि, शुरुवात में यह केवल कुछ की बैंकों जैसे की स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, आईसीआईसीआई बैंक, बैंक ऑफ इंडिया ने ही लॉन्च किया था, लेकिन बाद में एक्सिस बैंक और एचडीएफसी बैंक जैसे दुसरे निजी बैंकों ने भी यह सेवा शुरू कर दी। अब NPCI की वेबसाइट पर यह सेवा मुहैया कराने वाले सभी बैंकों की पूरी लिस्ट मौजूद है।

IMPS के माध्यम से पैसे कैसे ट्रांसफर करें?

IMPS का इस्तमाल करना बैंक खाता और IFSC विवरण के द्वारा, यह एक बहुत ही सामान्य तरीका है फंड ट्रांसफर करने के लिए। इस विधि के जरिये अगर आप किसी को भी जिनके किसी भी बैंक में अगर एक खाता भी हो तो भी आप आसानी से उनसे पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। इसके लिए आपको आपसे एक अच्छा इंटरनेट कनेक्शन चाहिए, जो की नेट बैंकिंग या मोबाइल-बैंकिंग डेटा कुछ भी होना चाहिए।

    • सबसे पहले अपने नेट बैंकिंग खाते पर लॉगिन करें।
    • उसके बाद आप लाभार्थी के हिसाब से जो करना चाहते हैं, उनके सभी विवरण भरकर उन्हें नए लाभार्थी के हिसाब से जोड़ दें। लाभार्थी कैसे जोड़ें इसकी जानकारी मैंने पहले ही आपको दे दी है। यहाँ पर आपको सही विवरण जाँचने की आवश्यकता है। लाभार्थी के अलावा प्रक्रिया के दोरान आपको अपना मोबाइल नंबर ओटीपी आ सकता है।
    • एक बार आपने लाभार्थी को जोड़ कर के लिए, फिर आप विवरण का चयन कर सकते हैं और आप जितनी राशि भेजना चाहते हैं उसका उल्लेख कर सकते हैं। इसके अलावा आप कुछ जरुरी टिप्पणियां(comment) भी लिख सकते हैं।
    • इसके पश्चात आपको विवरण सत्यापित करने की आवश्यकता है। उसके बाद एक बार फिर सभी विवरणों को ध्यान से एक बार अंतिम बार सत्यापित कर लें अपनी तस्सली के लिए।
    • आखिर में इसकी पुष्टि करें। ऐसा करने से तुरंत ही आपके खाते से डेबिट के रूप में प्राप्तकर्ता के खाते में क्रेडिट हो जाएगा और कुछ ही पैलों में जमा हो जाएगा।
    • इसके बाद आप एक एसएमएस प्राप्त करेंगे जहाँ पर आपके लेनदेन की जानकारी रहेगी। इसे संभाल के रखें क्यूंकि अगर कोई भी परेशानी हो तो भुगतान करें। तब आप बैंक वालों को ये संदर्भ संख्या दिखा सकते हैं।

MMID और IMPS को समझें (Understand MMID and IMPS)

अगर आप IMPS को इस्तमाल करना चाहते हैं तो आपके पास एक बैंक खाता जो की मोबाइल-बैंकिंग सेवाओं के लिए नामांकित होना चाहिए, आपके संबंधित बैंक के साथ होना चाहिए। अगर आपने अभी तक अपना मोबाइल नंबर अपने बैंक के साथ रजिस्टर नहीं किया है तो आपको अपने बैंक के निकटवर्ती शाखा में जाकर आवेदन फॉर्म जमा करना होगा, इस सेवा को प्राप्त करने के लिए करना होगा। ये बैंक की आधिकारिक वेबसाइट या नेट बैंकिंग वेबसाइट पर उपलब्ध हैं, जिन्हें आप आसानी से भर सकते हैं।

एक बार आपने अपने मोबाइल नंबर को संबंधित बैंक में रजिस्टर कर लिया, तो वह आपको एक अद्वितीय सात अंकों वाला एमएमआईडी कोड प्रदान करेगा, जिसका इस्तमाल आप तत्काल आईएमपीएस के द्वारा कर सकते हैं। इस MMID कोड में पहले चार अंकों में विशिष्ट पहचान संख्या होती है जो बैंक के जो की आपसे ये IMPS की सुविधा प्रदान कर रही है।

यदि आपका कई बैंक खाते हैं, तो आपका बैंक आपके सभी बैंक खाते के लिए एक विशिष्ट एमएमआईडी नंबर आवंटित करेगा। चूँकि आपका MMID नंबर एक संयोजन होता है, आपका खाता नंबर और मोबाइल फ़ोन नंबर, इसलिए आप आसानी से इसे समझ सकते हैं की कोनसा MMID कोड किस बैंक खाते को संदर्भित करता है।

ऐसे बहुत से तरीके हैं जिससे आप MMID कोड उत्पन्न कर सकते हैं जो आपके बैंक के हिसाब से हैं। कुछ बैंक ऑटो-जनरेट कर रहे हैं जब आपका मोबाइल नंबर को रजिस्टर करते हैं तो आप मोबाइल बैंकिंग के लिए अपना MMID कोड है। कुछ बैंक आपको एसएमएस अनुरोध करने पर अनुमति देते हैं, सात अंकों का एमएमआईडी कोड उत्पन्न करने के लिए वहीँ कुछ में आपको ऑनलाइन अनुरोध डालना पड़ता है अपने नेट बैंकिंग खाते से इसे उत्पन्न करने के लिए।

MMID के द्वारा फंड ट्रांसफर कैसे करें?

    • सबसे पहले अपने मोबाइल बैंकिंग ऐप पर लॉग इन करें।
    • इसके बाब फंड ट्रांसफर सेक्शन पर जाएँ और IMPS सेलेक्ट करें।
    • इसके बाद के खाते की संख्या, मोबाइल नंबर और MMID कोड अपने लाभार्थी को जोड़ते हैं और अपने स्थानांतरण को आरंभ करते हैं।
    • आपको इस लेन-देन को एक OTP और mPIN के द्वारा सत्यापित कर सकते हैं। आपके खाते से धन डेबिट के रूप में रिसीवर के खाते में तुरंत कुछ सेकंड क्रेडिट हो जाते हैं।
    • इसके पश्चात आप एक एसएमएस प्राप्त करेंगे, जहाँ कहीं भी लेनदेन के विवरण का उल्लेख होता है। यह संदर्भ संख्या को सुरक्षित रखें ताकि कहीं कोई समस्या हो तो आप इसे बैंक को दिखा सकते हैं।

एटीएम के द्वारा IMPS कैसे करें?

    • सबसे पहले अपने डेबिट कार्ड को स्वाइप करना है और अपने एटीएम पिन को दर्ज करना होगा।
    • उसके बाद धन हस्तांतरण विकल्प को चुनना होगा और फिर IMPS के विकल्प पर जाना होगा।
    • यहाँ पर आपका पंजीकृत मोबाइल नंबर स्क्रीन पर प्रदर्शित होगा। फिर अपने लाभार्थी के मोबाइल और MMID नंबर को करना होता है।
    • उसके बाद आप कितनी राशि हस्तांतरण करना चाहते हैं, उसे फिर से भरें इन विवरणों की पुष्टि करें और फिर उसे भेजने दें।
    • कुछ ही सेकंड में आपके खातों से पैसे डेबिट होकर रिसीवर के खाते में क्रेडिट हो जाते हैं।
    • एक बार धन हस्तांतरण हो जाएँ तब आपको एक एसएमएस प्राप्त होगा जहाँ आपके सभी लेन-देन का विवरण लिखा जाएगा

IMPS के लाभ क्या हैं?(What are the benefits of IMPS)

IMPS फंड ट्रांसफर सेवा ने ऑनलाइन लेन-देन की परिभाषा ही बदल कर रख दी है। यदि आज उनके उपयोगकर्ता ऑनलाइन / मोबाइल बैंकिंग सेवाओं को सक्रिय करते हैं तो वे अपने सभी उपयोगकर्ताओं को बहुत लाभ प्रदान करते हैं

तत्काल फंड ट्रांसफर: इसकी मदद से आप वास्तविक समय में फंड ट्रांसफर कर सकते हैं। इसके लिए आपको रिसीवर का खाता नंबर और मोबाइल नंबर चाहिए। ये सभी लेनदेन एक ही सेकंड में हो जाते हैं।

आसान प्रक्रिया: यह पूरी प्रक्रिया बहुत जल्द पूरी तरह से होती है और इसके साथ ये उपयोगकर्ता के अनुकूल भी होते हैं। इसके लिए आपको आपको लाभार्थी के विवरण में जोड़ना करना होता है जैसे की हम NEFT / RTGS में करते हैं और सक्रिय होने के लिए प्रतीक्षा करते हैं। कुछ बैंक नए लाभार्थी को फंड ट्रांसफर करने के लिए ज्यादा से ज्यादा 30 मिनट लगाते हैं। इसलिए आपको उनका नाम, खाता संख्या, IFSC या MMID (मोबाइल मनी आइडेंटिफ़ायर) कोड, बैंक खाता प्रकार, जैसे कि विवरण के बारे में अपने सामने रखना होगा।

राउंड द क्लॉक: समय कभी भी IMPS के बिच कोई बाधा उत्पन्न नहीं करता है क्यूंकि आप IMPS स्थानांतरण किसी भी समय कर सकते हैं जाहे वह रविवार हो या कोई सार्वजनिक अवकाश।

मनी ट्रांसफर चैनल: IMPS में पैसे भेजने के लिए आप बहुत से विधि का इस्तमाल कर सकते हैं जैसे की नेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, एटीएम या एसएमएस इत्यादि।
जहाँ पर इंटरनेट की सुविधा भी नहीं है वहाँ पर भी आप एसएमएस के द्वारा आईएमपीएस में पैसे भेज सकते हैं।
सभी के लिए खुला: यह सेवा का इस्तमाल निवासी या अनिवासी भारतीय (एनआरआई) भी कर सकते हैं।

सुरक्षा: IMPS में मनी ट्रांसफर बहुत ही सुरक्षित तरीके से होता है, इसमें बैंक बहुत बार जाँच करने के बाद ही आपके लेनदेन को वैध करते हैं। लेकिन ध्यान रहे अगर आपने कोई गलत लाभार्थी भरा है तो यह गलती केवल आपकी ही होगी। फिर भी अगर आपने गलती से कोई गलत लाभार्थी खाते में पैसा भेज दिया है तो आप ऐसे में अपने बैंक साखा से संपर्क कर सकते हैं।

 NEFT क्या है और पैसे कैसे भेजे?
UPI क्या है? पैसे कैसे भेजे?
SHARE