गूगल क्या है और किसने बनाया है (What is Google and who has created)

google kiy h in hindi & pic

गूगल क्या है और इसका पूरा नाम क्या है?

जिसके पास स्मार्टफोन है वह इसका इस्तेमाल करता है और चुटकी बजाते ही किसी भी जानकारी तक पहुंच जाता है. भले ही दुनिया के किसी हिस्से में भी कोई घटना घटी हो उसकी जानकारी भी हमें यह दे देता है लेकिन आज भी कई ऐसे लोग हैं जिन्हें सच में नहीं पता कि आखिर गूगल क्या चीज है
“Global Organization of Oriented Group Language of Earth”
यह एक सर्च इंजन है जिसमें हम किसी भी तरह के जानकारी को उसके कीवर्ड या शब्द के द्वारा ढूंढ कर निकालते हैं या खोजते हैं. इसलिए इसे एक सर्च इंजन कहा जाता है.
मनोरंजन जे लिए हम यूट्यूब में रोज़ कुछ वीडियोस देखते हैं, जानकारी के लिए इसी में ही सर्च करते हैं और किसी नए जगह में घूमने के लिए इसके मैप की मदद लेते हैं. इन सभी एक कॉमन चीज़ है वो है गूगल. तो आइए अब हम जानते हैं इसके बारे में की गूगल किसने बनाया है इन हिंदी और ये किस देश की कंपनी है.

गूगल क्या है – What is Google in Hindi?

देखा जाये तो गूगल एक मल्टीनेशनल टेक्नोलॉजी पब्लिक कंपनी है, जो इंटरनेट से जुडी कई प्रकार की सेवाएं और उत्पाद लोगों को सेवा के रूप में उपलब्ध करती है. ये सेवा के रूप में ईमेल, स्टोरेज ड्राइव, ऑनलाइन एडवरटाइजिंग टेक्नोलॉजी, सर्च क्लाउड कंप्यूटिंग, सॉफ्टवेयर, एप्लीकेशन प्लेस्टोर, हार्डवेयर आदि प्रदान करती है.ये तो आप भी मानेंगे की आजकल हमलोग हर वक़्त गूगल से जुड़े हुए रहते हैं. आप अगर एंड्राइड का स्मार्टफोन इस्तेमाल करते हैं तो जो की गूगल के द्वारा दी जाने वाली सेवा है.
भारत में जब से इंटरनेट की सेवा सस्ती हुई है तब से लोगों के ऑनलाइन वीडियो देखना भी आसान हो चूका है और लोग मनोरंजन के लिए हर दिन यूट्यूब में अपनी मनपसंद वीडियो देखते हैं.
इंटरनेट की दुनिया में गूगल को राजा कहा जाये तो गलत नहीं होगा. Alexa दुनिया के सभी वेबसाइट की ट्रैफिक के अनुसार लिस्ट बनाती है जिसमे गूगल नंबर 1 पर है क्यों की इसे सबसे ज्यादा visit किया जाता है इसके प्रोडक्ट जैसे यूट्यूब नंबर 2 पर और ब्लॉगर के साथ बाकि सभी इस लिस्ट में टॉप 100 में ही होते है.
Google में हर सेकंड 40,000 कीवर्ड सर्च किये जाते है.  जिसका मतलब है की एक दिन में 5.7 करोड़ सर्च queries ये प्रोसेस करता है.
अब तो आप समझ गए होंगे की इसे सबसे ज्यादा ट्रैफिक कैसे मिलती है. गूगल के माध्यम से लोगों को अनेक तरह जानकारी सर्च करने की सुविधा दी जाती है. गूगल हमे वेबसाइट, फोटो, न्यूज़, मैप इत्यादि बहुत तरह के जानकारी लाकर के देता है.जब हम Google.com का होमपेज खोलते हैं तो देखने में बहुत ही साधारण इंटरफ़ेस लगता है. लेकिन इस साधारण इंटरफ़ेस के साथ ये अभी पुरे दुनिया में हर जगह सबसे अधिक खुलने वाला वेबसाइट है जिससे लोग बहुत तरीके से मदद लेते हैं और अपना काम पूरा करते हैं.

भले ही अपने घर के अंदर बैठ कर कंप्यूटर या फोन में कुछ कर रहे हों, ऑफिस में काम करते समय कुछ जानकारी लेनी हो, कहीं पर भी घूमते वक़्त गूगल मैप में लोकेशन देखना हो, हर तरह से गूगल का ही इस्तेमाल करते हैं.आज इंटरनेट की दुनिया में गूगल राजा है.  ये इंटरनेट से जुड़ी हर तरह की सेवा देता है जिससे लोगो को फायदा होता है. इसीलिए ये कंपनी सबसे आगे है.लोगों की जरूरत के अनुसार उनकी संतुष्टि के लिए कई प्रयोग किए और नई-नई सेवाओं के साथ यह कस्टमर्स को रिझाने में कामयाब होता है.यह अपने ग्राहकों को और सुधरे हुए और नई तकनीक से भरपूर सेवाओं को प्रदान करता है जिससे कि कंस्यूमर को फायदा हो सके और उनका काम भी आसान हो सके.यही वजह है गूगल के नंबर वन बने रहने का. जो समय के साथ परिवर्तन करता है वही मार्केट में टिका हुआ होता है और यह गूगल हमेशा से करता आया है और उम्मीद है करता रहेगा.

लेकिन इसे किसने बनाया इसकी शुरुआत कब कैसे और कहाँ से हुई ये बहुत कम लोग जानते हैं. जिसमे आज आप भी शामिल हो जाएंगे.

गूगल किसने बनाया?(Who created google)

ये बहुत लोग जानने को उत्सुक होते हैं की आखिर जो हमारे सवालों का जवाब पलक झपकने के पहले हमारे सामने लाकर रख देता है, ऐसी वेबसाइट बनाने का ख्याल किसके दिमाग में आया था.
गूगल को 2 लड़को ने मिलकर बनाया है जिनके नाम Larry Page और Sergey Brian है.यही दोनों के संस्थापक और आविष्कारक है. इन दोनों की बदौलत ही लोगों की जीवन शैली बदल चुकी है. हर जानकारी का खज़ाना हाथों में पहुंचा गया, काम करने का तरीका बदल गया और बहुत सी चीज़ें आसानी से हासिल होने लगी.जब दोनों कैलिफ़ोर्निया में स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स थे और अपनी पीएचडी की पढाई कर रहे थे तब उन्होंने इस सर्च इंजन को अपने प्रोजेक्ट के रूप में लिया और काम करना शुरू कर दिया.

Larry Page और Sergey Brian का उस वक़्त का बस एक प्रोजेक्ट इतनी बड़ी कंपनी के रूप में बनकर उभरेगा इसकी कल्पना तो उन्होंने ने भी नहीं की होगी. इसमें कोई शक नहीं इंटरनेट के इतिहास में से एक गूगल सबसे बड़ा अविष्कार है

 गूगल किस देश की कंपनी है?

कई लोगों के मन में ये सवाल अक्सर आता है की गूगल किस देश की कंपनी है. इस में आपको कंफ्यूज होने की बिलकुल भी जरुरत नहीं है  क्यों की आज आप इसके बारे में जान जायेंगे. यह अमेरिका की कंपनी है जो इसके राज्य कैलिफ़ोर्निया में स्थित है.

गूगल का इतिहास (History of Google)

इंटरनेट के शुरूआती दौर से ही सर्च इंजन की मौजूदगी है. लेकिन गूगल इस वर्ल्ड वाइड वेब की दुनिया में काफी देरी से आया लेकिन इसने अपने पांव ऐसे पसार चूका है जिसकी कल्पना उन्होंने खुद भी नहीं किया होगा जब उन्होंने गूगल की रचना की थी.
गूगल को बनाने के पीछे जो पहला कारण था वो  सर्च  इंजन का निर्माण करना जो वेबसाइट को बेहतर तरीके से ढूंढ कर लाये.   आज ये इतनी बड़ी कंपनी न होती अगर इसकी शुरुआत सर्च इंजन के साथ न होता. पहले आप ये ही जान लें की आखिर सर्च इंजन होता क्या है?

गूगल सर्च इंजन क्या है?

सर्च इंजन एक ऐसा प्रोग्राम होता है जो आपके द्वारा डाले गए कीवर्ड के आधार पर इंटरनेट में सर्च करता है आपके लिए वेब पेजेज को ढूंढ कर लाता है.

  • सर्च इंजन के प्रोग्राम में boolen operators, search filed और display format होता है.
  • इंटरनेट में जितने भी वेबपेजेस होते हैं उन्हें spider या web crawlers read करते हैं.
  • सर्च इंजन डेटाबेस का भी इस्तेमाल करता है.
  • कीवर्ड के relevancy के आधार पर algorithm का इस्तेमाल कर के रिजल्ट को ranking देता है.
Backrub, Pagerank और सर्च रिजल्ट की शुरुआत

इन सब की शुरुआत 1995 के गर्मी के मौसम में हुई थी जब Larry Page और Sergey Brian की मुलाक़ात स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में हुई. दोनों ही बहुत इंटेलीजेंट थे इसीलिए उस वक़्त उन के विचार मिलते नहीं थे लेकिन फिर भी दोनों काफी डिस्कशन करते थे. अंत में दोनों का झगड़ा पार्टनरशिप पर आकर के ख़तम हुआ.दोनो ने मिलकर सर्च इंजन बनाया जो पेज को रैंक देने के लिए बैकलिंक को जरुरी मानते थे. इसीलिए उन्होंने इसे BACKRUB नाम दिया.ये उन पेजेज को हाई रैंक देता था जो शब्द (words) सबसे ज्यादा बार सर्च किये जाते थे और वो जिस पेज में होते थे. इसके अलावा भी ये उन पेजेज को रैंक देते थे जिन के बैकलिंक्स अधिक होते.
1997 में दोनों ने BACKRUB का नाम बदल के Googol शब्द से प्रेरित होकर जैसा की हमने पहले ही बताया है, Google कर दिया.अगस्त 1998 में SUN Microsystems के Andy Bechtosheim ने Larry और Brian को $100000 का चेक दिया जिससे ऑफिसियल Google Inc. कंपनी बनी और garage से निकल के अपने पहले ऑफिस तक पहुंची.फिर 1998 में अपना पहले Doodle लांच किया जो  Burning Man festival in Navada के रूप में था. तब से लगातार ये नए थीम्स और सेलेबटरेशन Doodle के रूप में हमें दिखता है.

गूगल से जुड़ी जानकारी

  • जब गूगल को लॉन्च किया गया तो उसके पहले से ही करीब दो हजार Doodles गूगल ने तैयार कर रखें ताकि उनका हर यूजर उनके डूडल देखकर सेटिस्फाइड हैं.
  • जब हमें गूगल खोलना होता है तो साधारण तौर पर हम google टाइप करते हैं लेकिन अगर आप googel, gooogle, gogle करके भी इसे खोलेंगे तो गूगल ही खुलेगा.
  • गूगल तो पूरी दुनिया इस्तेमाल करती है इसीलिए उसे अलग-अलग 80 भाषाओं में लोग उपयोग कर सकते हैं.
  • गूगल पर ट्रांसलेट करने वाला ऐप करीब 100 भाषा में लोगों को अनुवाद कर सकता है.
  • Yahoo कंपनी की CEO गूगल में काम करने वाली पहली महिला बनी.
  • विश्व में सबसे अधिक उपयोग होने वाला सर्च इंजन गूगल है लेकिन दूसरे नंबर पर जो सर्चिंग इंजन आता है वह है यूट्यूब और यह गूगल का ही प्रोडक्ट बन चुका है.
  • गूगल अपनी कर्मचारियों के लिए जो भी खाना तैयार कर आता है वह 200 फीट की दूरी पर ही होता है.

गूगल अपनी कमाई कैसे करता है

Google ने अपने एक Report में ये साफ़ तोर से दर्शाया है की इनकी Income की 96% से भी ज्यादा कमाई केवल Advertisement से ही होती है.
आपको Google या Google में दिखने वाली जितनी भी websites या blogs पर जो भी ads दिखाई पड़ते हैं उनमें करीब 70% ads गूगल के द्वारा ही तैयार किये गए होते हैं. चूँकि Google एक बहुत ही बड़ा Search Engine है इसलिए इसमें करीब 1 Billion result ढूंढे जाते हैं. इससे आप Google के traffic के बारे में सोच सकते हैं.
तो इसका जवाब है इसकी कमाई का जरिया भी आप ही हैं. जी हाँ “आप” वो कैसे चलिए मैं आपको समझाता हूँ. गूगल एक बहुत advertising कंपनी है और इसके सबसे बड़े प्रोडक्ट आप ही हैं. इसकी 96% जो कमाई होती है वो advertisement यानि विज्ञापन के माध्यम से ही होता है. हर दिन गूगल सर्च क्वेरीज के रूप में 1 billion रिजल्ट पूरी दुनिया के लोगों को दिखाता है. इसके साथ ही ये कई billion विज्ञापन भी साथ में लोगों को दिखाता है. का राज़ इनके काम करने के scale में छुपा हुआ है.

इसमें ये आपके सबसे online गतिविधियों को track कर रहा होता है. इसलिए ये आपको वो सभी ads दिखता है जिनकी search आप पूर्व कभी किये हुए होते हैं. इसलिय ज्यादा chances हैं की आप इन्हें ads को click कर उन चीज़ों को खरीदें. ये consumers के interest के अनुसार ही ads शो करता है.

ऐसे में सभी लोग जो की Google Services का इस्तमाल करते हैं वो एक तरह से इसके products बन जाते हैं. जिन्हें की ये दुसरे companies की selling करने में मददगार साबित होती है. इसलिए ज्यादातर compaines google ads का ही इस्तमाल करते हैं अपने products के promotion के लिए.

गूगल भारत में किस तरह पॉपुलर हुआ?

Google भारत में इतना ज्यादा popular होने के पीछे का मुख्य कारण है जिओ. जी आपने बिलकुल ही सही पढ़ा है. जब से JIO ने market में Free Internet Data प्रदान किया और बाद में भी काफी कम rates में internet प्रदान कर रहा है, इसलिए अब लोगों को internet browse करने के लिए की YouTube पर video देखने से पहले ज्यादा सोचना नहीं पड़ता है. वो बेझिझक इसका इस्तमाल कर सकते हैं.

एक समय ऐसा भी था जब हमे कोई भी Internet के कार्य करने के लिए Internet Cafe के ऊपर निर्भर होना पड़ता था. जो की हमसे अपने मन चाहे पैसे वसूलते थे. लेकिन अब समय बदल चूका है अब हमे कहीं जाने की जरुरत ही नहीं पड़ती है Internet इस्तमाल करने के लिए. अब आसानी से सभी कोई Google का इस्तमाल अपने जरूरत के सभी चीज़ों के लिए कर रहा है.इसलिए शायद Google को Google Uncle के नाम से ज्यादा जाना जाता है, क्यूंकि ये हमारे द्वारा पूछे गए किसी भी सवाल का जवाब बड़ी ही आसानी से दे देता है वो भी तुरंत. वहीँ इसके algorithms इतने ज्यादा advanced हैं की हमें अपने सवालों के उचित जवाब प्राप्त होते हैं वहीँ ज्यादा खोजने की जरुरत भी नहीं पड़ती है.दिनबदिन गूगल अपने users के लिए नई नई सेवाएं ला रहा है. हर साल ये कुछ न कुछ नयी सेवा जरूर लेकर आता है. इसलिए शायद Google केवल भारत में ही नहीं पूरी दुनिया में अच्छे तरीके से छा चूका है.

गूगल से होने वाले फायदे

  • हमे हर तरह की जानकारी हमे अपने स्मार्टफोन में आसानी से मिल जाती है बस हमे सर्च बॉक्स में लिखना है की हम किसकी जानकारी लेना चाहते हैं.
  • अगर हमे किसी नए जगह में जाना होता है तो गूगल मैप की मदद से उस जगह पर बिना किसी परेशानी के पहुँच सकते हैं.
  • अगर हम कोई बिज़नेस करते हैं और उसे अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाना चाहते हैं तो इसके ads के माध्यम से अपने बिज़नेस को फैला सकते हैं.
  • यूटूबर, ब्लॉगर, मोबाइल एप्प डेवलपर इसके माध्यम से अपने कंटेंट को लोगों तक पहुंचा के पैसे कमा सकते है
SHARE