डिजिटल लॉकर की सम्पूर्ण जानकारी (What is Digital Locker)

What is Digital Locker
डिजिटल लॉकर क्या हैं? 
भारत सरकार ने 1 जुलाई 2015 को नागरिकों को पैन कार्ड, पासपोर्ट, मार्कशीट और डिग्री प्रमाणपत्र जैसे अपने महत्वपूर्ण दस्तावेजों को डिजिटल रूप से संग्रहीत करने में मदद करने के लिए डिजिटल लॉकर सुविधा शुरू की। यदि आप आधार नंबर से जुड़े हैं तो आप दस्तावेज़ अपलोड कर सकते हैं, आरसी कॉपी जैसे जारी किए गए दस्तावेज़ प्राप्त कर सकते हैं। यह सुविधा पाने के लिए बस आपके पास आधार कार्ड होना चाहिए। आधार कार्ड का नंबर डालकर आप डिजीटल लॉकर अकाउंट खोल सकते हैं।
इस सर्विस की सबसे खास बात यह है कि आप कहीं भी कही भी अपने दस्तावेज को डिजिटल लॉकर द्वारा उपयोग कर सकते हैं अब आपको बार-बार कागजों का प्रयोग नहीं करना होगा। डिपार्टमेंट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (डीईआईटीवाई) ने हाल ही में डिजिटल लॉकर का बीटा वर्जन लॉन्च किया है।
डिजिटल लॉकर या डिजीलॉकर भारत सरकार का एक मोबाइल ऐप और वेबसाइट है जहाँ आप अपने दस्तावेज़ जैसे पैन कार्ड, पासपोर्ट, मार्कशीट और डिग्री प्रमाणपत्र मुफ्त में अपलोड और स्टोर कर सकते हैं। आपको अपने सभी दस्तावेज़ों के लिए 1GB स्थान मुफ्त में दिया जाता है। मूल रूप से यह एक भौतिक लॉकर की तरह है जहां आप अपने आभूषण और दस्तावेजों को संग्रहीत करते हैं लेकिन यह लॉकर डिजिटल है और डिजिटल जानकारी संग्रहीत करेगा। यह eLocker आपको हर जगह भौतिक दस्तावेजों को ले जाने से मुक्त करता है।
डिजिटल लॉकर के उपयोग: 
नागरिक अपने डिजिटल दस्तावेजों को कभी भी, कहीं भी ऑनलाइन शेयर कर सकते हैं। यह सुविधाजनक होता हैं और समय की बचत भी करता है।
  • यह कागज के उपयोग को कम करके सरकारी विभागों के प्रशासनिक भार को कम करता है।
  • डिजिटल लॉकर दस्तावेजों की प्रामाणिकता को मान्य करना आसान बनाता है क्योंकि वे सीधे जारी किए गए जारीकर्ताओं द्वारा जारी किए जाते हैं।
  • स्व-अपलोड किए गए दस्तावेज़ों को डिजिटल रूप से ESign सुविधा (जो कि स्व-सत्यापन की प्रक्रिया के समान है) का उपयोग करके हस्ताक्षरित किया जा सकता है।
डिजिटल लॉकर अकाउंट कैसे बनाये:
Step1.

डिजिलॉकर अकाउंट बनाने के लिए सबसे पहले डिजी लॉकर की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा। https://digitallocker.gov.in

Step2. 

आप वेबसाइट पर पहुंचने के पश्चात आपको साइन अप बटन पर क्लिक करना होगा। जिसके बाद आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा।

Step3.

अगले पेज पर आपको अपना आधार कार्ड नंबर डालना होगा। और नीचे दिए गए कंटिन्यू बटन पर क्लिक कर करना होगा। जैसे ही आप कंटिन्यू बटन पर क्लिक करेंगे। आपके उस मोबाइल नंबर पर एक वन टाइम पासवर्ड आएगा। जो आपके आधार कार्ड से जुड़ा होगा। यह पासवर्ड आपके स्क्रीन पर जो हो रहे बॉक्स में डालकर कंटिन्यू बटन पर क्लिक करना होगा।

DIGILOCKER पर अकाउंट कैसे बनाये? How to create an account on DIGILOCKER?
Step4.

 अगले पेज पर आपको कुछ पर्सनल जानकारी जैसे – आपका पूरा नाम, आप की डेट ऑफ बर्थ, आपका जेंडर और ईमेल आईडी भरना होगा। जिसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।

DIGILOCKER पर अकाउंट कैसे बनाये? How to create an account on DIGILOCKER?

 

Step5.

 इसके पश्चात आपको आपने डिजी लॉकर अकाउंट में लॉगिन करने के लिए एक सिक्योरिटी पिन का भी सेट अप करना होगा। जो भी आपको रख ना हो वह आपको रख सकते हैं। और सबमिट बटन पर क्लिक करके सबमिट कर सकते हैं।

DIGILOCKER पर अकाउंट कैसे बनाये? How to create an account on DIGILOCKER?

जैसे ही आप या प्रक्रिया पूरी करते हैं। आपका अकाउंट डिजिलॉकर पर बन जाएगा। और आप इस अकाउंट का उपयोग डिजिलॉकर मोबाइल अथवा वेबसाइट के माध्यम से कर सकते हैं।

डीजी लॉकर के फायदे  
  • डीजी लॉकर (Digi Locker) के कारण फ्रॉड की संभावना कम हो गयी है : डीजी लॉकर (DigiLocker) मे कोई भी व्यक्ति अपना डाटा सेफ रख सकता है । यह पब्लिक Wi-Fi स्पोर्ट्स के लिए accessible नही है इससे यह और भी सेफ हो जाता है। इसमे डाटा का प्रोसैस मैनेजमेंट सभी सेफ है और यह किसी भी एसे व्यक्ति के साथ शेयर नही किया जाता जिसका इससे कोई संपर्क नही है ।
  • The cost of government services to be reduce at both ends : डीजी लॉकर (DigiLocker) का उपयोग करने पर सेम काम को कम लोगो की मदत से किया जा सकता है इसकी सहायता से कोई भी यूसर कम पैसे और कम टाइम मे कम्प्युटर का उपयोग अपना काम आसानी से कर सकता है।

**डिजिटल इंडिया की शुरुआत के अंतर्गत डिजिलॉकर भी शुरू किया गया हैं जिसका लक्ष्य सरकारी एजेंसियों में ऑनलाइन डॉक्यूमेंट की सत्यता जांचने के लिए  फिजिकल डोक्यूमेंट के उपयोग को कम करके ज्यादा से ज्यादा ई-डॉक्यूमेंट का उपयोग करना हैं.

SHARE