कॉपीराइट मटेरियल क्या होता है? (what is copyright material)

copyright material kya hai in hindi

कॉपीराइट मटेरियल मतलब होता है के जो भी कंटेंट है वो किसी ओर का है वो  छवि, वीडियो, ऑडियो, पाठ  कुछ भी हो सकता है। ओर अगर किसी का कांटेंट कोई कापी करके उसे करता है तो वो कॉपीराइट मटेरियल कहलाता है।

अगर आप यूटूब पर विडीओ अपलोड करते है तो आपको पता होगा, जेसे ही हम किसी के विडीओ कोपी (Download) करके अपलोड करते है हमारे चैनल पर कापीरायट आ जाता है। क्यू की यूटूब को पता चल जाता है की वो विडीओ किसी ओर का है जो हमने कापी करके अपलोड किया है।

जिस तरह यूटूब को पता चल जाता है तिख उससी तरह गूगल ओर बाक़ी सर्च एंजिन भी पता कर लेते है की जो भी कांटेंट है वो किसका है ओर किसने कापी किया है।

अपने कांटेंट को कापी होने से कैसे बचाए।

कॉपीराइट मटेरियल से बचने का सिंपल सा तरिका है की आपको खुद से आर्टिकल लिखना है। और (राजशुल्क मुक्त) royalty free इमेज का इस्तेमाल करना है। अब जैसे की मेने आपको पहले भी बताया की अपने लिखे हुए आर्टिकल में भी साहित्यिक चोरी हो सकता है तो उसे चेक करके उस paragraph के वर्ड में कुछ बदलाव कर देने चाहिए जिससे की साहित्यिक चोरी हट जाए। और आपका आर्टिकल अद्वितीय (unique) हो जाए। Plagiarism का मतलब साहित्यिक चोरी।

PLAGIARISM कैसे चेक करे फ्री में?

अगर आप google पे सर्च करोगे plagiarism टूल के लिए तो आपको बहोत से फ्री टूल मिल जायेंगे। जिसके जरिये आप अपने आर्टिकल के बारे में पता लगा सकते हो की वो कितने परसेंट साहित्यिक चोरी है और कितने परसेंट सच है।

लेकिन में आपको suggest करूँगा की आप SmallSEOTools वेबसाइट का Plagiarism Checker Tool इस्तेमाल करो।

आपको बस आर्टिकल लिखने के बाद उसे कॉपी करना है और Plagiarism Checker Tool पर जाकर पेस्ट करना है। और check plagiarism पर क्लिक करना है। और आपके सामने रिजल्ट आ जायेंगे। फिर जो जो लाइन plagiarized है उस लाइन में आपको बदलाव करने है ताकि वो unique हो जाए।

COPYRIGHTED (PLAGIARIZED) CONTENT को यूनिक कैसे बनाये?

आपने आर्टिकल लिखा और वो अगर plagiarized है। तो आपको उस्म्मे कुछ बदलाव कर देने चाहिए जिससे की plagiarism हट जाए। लेकिन कभी कभी एसा भी होता है की बदलाव करने के बाद भी आर्टिकल plagiarized रहता है.ऐसी सिचुएशन में एक टूल काम आता है। जिसे का नाम है Article Re writer इसके जरिये आपका plagiarized कंटेंट यूनिक हो जाएगा। आपके आर्टिकल में जो भी लाइन या सेंटेंस plagiarized है उस सेंटेंस को आपको इसमें पेस्ट करना है और आपके पास unique लाइन आ जाएगी। उस लाइन का अर्थ तो वही होगा लेकिन कुछ वर्ड्स बदल गये होंगे।

आप google पर सीढ कीजिये Article Re writer टूल आपको बहोत से मिल जायेंगे। आप उनमे से किसी का भी इस्तेमाल कर सकते हो।

Article Re writer

1. ब्लॉगिंग (Blogging)

ब्लॉगिंग में तो आपको लिखना ही होता है। सबसे पहले तो आप किसी दूसरे के कंटेंट को कॉपी करके अपनी वेबसाइट पर पब्लिश न करे। लेकिन आप उसके में से देखकर थोड़ा विचार ले सकते हो। क्योंकि हर किसी को सब चीज़ के बारे में नही पता होता। तो आप दूसरे की वेबसाइट से देखो और अपनी भाषा में थोड़ा चेंज करके लिखो। आपको बिल्कुल समान पोस्ट नही करना सिर्फ थोड़ा विचार कर लेना है।

उसके बाद जो आप अपने लिखे हुए आर्टिकल में फ़ोटो का इस्तेमाल करते हो उसमे भी कॉपीराइट हो सकता है। तो आप वो फ़ोटो कैसे इस्तेमाल कर सकते हो में बताता हूँ। आप google पर search कीजिये ” royality free image ” तो आपको बहोत सी वेबसाइट मिल जाएंगी जहा से आप copyright free image डाउनलोड कर सकते हो। और अगर आप google से ही फ़ोटो डाउनलोड कर के लगाना चाहते हो तो आपको उसमे एडिटिंग करनी होगी । जैसे उसमे अपनी वेबसाइट का नाम लिख दीजिये और भी आप एडिटिंग करके उसे बदल सकते हो। मतलब ये है की उस छवि को बिल्कुल वही मत रखिये। संपादित करें।

2. यूट्यूब (Youtube)

सबसे ज्यादा कॉपीराइट की दिक्कत आती है यूट्यूब पे। क्योंकि यूट्यूब पर जो कंटेंट आता है वो video में आता है। और अगर आप किसी की वीडियो डाउनलोड कर के अपने चैनल पर पब्लिश करोगे तो कॉपीराइट तो आएगा ही। वैसे तो आपको में ये suggestion दूंगा की अपना खुद का content बनाइये। लेकिन फिर भी कही कही पर दूसरे की video या फिर song इस्तेमाल करना ही पड़ता है। तो इसका solution में आपको बताता हु।

अगर आप किसी की वीडियो में से एक पार्ट इस्तेमाल करना चाहते हो तो उसे सिर्फ 30 सेकंड से कम का ही अपनी वीडियो में लगाइये और अगर आपको ज्यादा भी लेना है तो पहले 30 सेकंड से कम का लेक बीच में अपना कंटेंट डालिये और फिर से उसी वीडियो का पार्ट डालिये लेकिन 30 सेकंड से कम का। इसमे ये है की कंटेंट आपको अपना ही बनाना है लेकिन अगर आपको किसी और के बआरे में कुछ कहना है तो आप थोड़े सेकंड का वीडियो लगा सकते हो।

और अगर आप नए youtuber हो और face cam नही  करना चाहते तो आप यूटीबे पर सर्च कीजिये Copyright free gameplay तो आपको वह कुछ गेम्स के गेमप्ले मिलेंगे जो की कॉपीराइट फ्री होंगे उन्हें आप[ वीडियो में लगाइये। लेकिन उन्हें भी आप बीच बीच में से काटकर लगाइएगा। जिससे की आपकी वीडियो पे कॉपीराइट आने के चांस हीउ खत्म हो जाए। म्यूजिक के लिए भी आप इस ही कर सकते हो की 30 second से कम का म्यूजिक लगाकर कॉपीराइट से बच जाओगे।

3. अगर कॉपीराइट होता है?

अगर इत्तिफ़ाक़ से आपकी वीडियो पर कॉपीराइट आ भी गया तो आप youtube की साइट पर जाकर जिसने भी कॉपीराइट क्लेम आपको दिया है उससे बात कर सकते हो। फिर आप उससे बात करके कहिये की क्लेम हटा दे अगर वो मान जाता है तो आपकी वीडियो पर लगी हुई कॉपीराइट claim हट जाती है। और आपकी video monetize भी हो जाती है।