लोन क्या है और कैसे ले?(What is a loan and how to take it?)

loan kiy h in hindi

जब भी ऋण का रख आता है तब मन में बैंकों का चित्र तो जरूर ही उभरता है। और हो भी क्यूँ न, आज के समय में यदि आपको ऋण होना चाहिए तो आपको बैंकों के पास ही जाना होता है। ऋण को अगर आसान भाषा में समझा जाए तो ये कोई भी वस्तु हो सकती है, वहीँ लेकिन मुख्य रूप से इसमें पैसों को ही समझा जाता है उसे किसी दुसरे व्यक्ति से लिया गया है, वहीँ इसे लौटाते वक़्त मूल धन के साथ ब्याज भी दें लौटना पड़ता है

आपके पास टेलीमार्केटिंग कॉल जरुर आते होंगे, जो की सच में बहुत ही परेशान होती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आखिरकार ये ऋण क्या है? क्यूँ ये अब इतनी आसानी से प्रदान किया जा रहा है? ऋण के अलग अलग प्रकार क्या हैं? यदि आपका मन में भी ये सभी सवाल उमड़ रहे हैं तो आपको यह लेख लोन क्या होता है (हिंदी में ऋण क्या है) पूरी तरह से जरुर पढना चाहिए क्यूंकि इससे आपको ऋण को बेहतर रूप से समझने में आसानी होगी।

लोन क्या है? – What is Loan in Hindi

ऋण हमारे जीबन को आसान बनाता है। आज के समय में लोन का सीधा संबंध बैंकों से होता है। ऐसा शायद इसलिए क्यूंकि बैंक ही उन वित्तीय संस्थानों में हैं जो की आप के ब्याज के साथ ऋण प्रदान करते हैं। वहीँ वे बहुत ही सुरक्षित और सुरक्षित तरीके से आपको जल्द ही ऋण प्रदान करते हैं।

यदि आपने अभी तक कभी ऋण नहीं ली है तो शायद आपको इसके महत्व के विषय में ज्यादा नहीं पता होगा। क्यूंकि जब पैसों की बहुत अधिक आवश्यकता होती है जैसे की किसी बड़ी बीमारी का इलाज करने के लिए, बच्चों की शादी कराने में, आपके घर बनाने में या आपके बच्चों की पढाई के लिए, तो ऐसी जगहों में ऋण ही एकमात्र सहारा बनकर खड़े होते हैं। , क्यूंकि इतनी बड़ी रकम किसी के पास भी होना बहुत ही कष्ट है, वहीँ दोस्त हो या रिश्तेदार हो इतनी बड़ी रकम माँगा भी नहीं जा सकता है। अब सिर्फ बैंक से ऋण लेने का एकमात्र रास्ता बचा हुआ होता है।

लोन के अंग क्या हैं?

1. मूलधन या उधार ली गई राशि या ऋण में ली गई राशि
2. ब्याज या ब्याज की दर
3. ऋण की अवधि या कब तब के लिए आपने ऋण लिया है

लोन की श्रेणी- (Loan range)

1. सुरक्षित – एक सुरक्षित ऋण उस ऋण को कहते हैं, जो की समर्थित होती है संपार्श्विक या सुरक्षा से वह भी संपत्ति के रूप में जैसे की संपत्ति, सोना, सावधि जमा और पीएफ (भविष्य निधि)।
उदाहरण के लिए, यदि आपने एक गृह ऋण या एक ऑटो ऋण लिया है, तो एक ग्रहणाधिकार किया जाता है, आपकी संपत्ति में और उसे आप बेच नहीं सकते हैं तब तक जब तक आपने पूरी ऋण राशि को चुकता नहीं करते हैं और अपने आप को घर और vechile की एकमात्र स्वामित्व को दावा कर सकते हैं।

2. असुरक्षित – एक असुरक्षित ऋण जो ऋण को कहते हैं, जो की एक प्रकार का व्यक्तिगत ऋण होता है और जिसे कोई भी संपार्श्विक, सुरक्षा या गारंटी की आवश्यकता ही नहीं होती है और इसे आपकी आवश्यकताओं को पूर्ण करने के लिए लिया जा सकता है।
ये ऋण को बैंक या NBFC आपको बिना किसी सुरक्षा के ही प्रदान करता है और साथ में ये केवल आपके CIBIL स्कोर और व्यक्तिगत ट्रैक रिकॉर्ड को ही देखते हैं।

लोन के प्रकार (Loan type)

  • होम लोन – असुरक्षित
  • कार लोन – असुरक्षित
  • शिक्षा लोन – सुरक्षित
  • पर्सनल लोन – सुरक्षित
  • व्यवसाय लोन – असुरक्षित
  • गोल्ड लोन – असुरक्षित

1. पर्सनल लोन
एक पर्सनल लोन उस ऋण को कहते हैं, जिस पर लाभ लिया जाता है, व्यक्तियों के द्वारा उनकी जरूरतों के हिसाब से। ये ऋण तब बहुत काम आते हैं जब आपके सामने अप्रत्याशित व्यय हो जाते हैं। ये ऋण को आमतौर पर बैंक या कोई भी गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (NBFC) से लिया जाता है।

2. शिक्षा लोन
गुणवत्ता शिक्षा का महत्व सभी छात्रों को सबसे अधिक है और इसके लिए वे कोई भी हद तक जा सकते हैं। जैसे की हम जानते हैं की शिक्षा की कीमत दिनबदिन बढती ही जा रही है। ऐसे में शिक्षा ऋण वह एकमात्र रास्ता बच जाता है।
शिक्षा ऋण उस ऋण को कहते हैं कि जो लोग लागू करते हैं वे अपनी शैक्षिक आवश्यकताओं को पूर्ण करने के लिए हैं। वरीयता सभी बैंकों और NBFCs भारत में शिक्षा ऋण की पेशकश करते हैं।

3. होम लोन
घर खरीदना या बनाना सभी भारतीयों का एक बहुत ही बड़ा सपना होता है, वहीँ वो ज़रुर से पूरा भी करना चाहते हैं। ऐसे में घर बनाने में जमा की पूरी पूंजी का बलिदान हो जाता है वही कभी कभी यह कम भी पड़ जाता है। ऐसे में अगर सपने को पूरा करना है तो हमें होम लोन लेने का एकमात्र तरीका नज़र आता है।

4. कार लोन 
एक बढ़िया कार या गाड़ी की चाहत सभी हो जाती है लेकिन बहुत समय में उसे खरदने के लिए हमारे पास पर्याप्त धन राशि नहीं होती है। वैसे तो गाड़ी खरीदना एक स्वाभिमान की बात मानी जाती है वहीँ इसके बहुत से फायदे भी हैं जैसे की ये आपको परिवहन की लचीलापन प्रदान करती है, आपकी सुविधा और कार्यक्षमता को भी बढाती है।

5. बिजनेस लोन
व्यवसायों को सुचारू रूप से चलने के लिए इसमें बहुत से निवेश की जरूरत होती है, उनके स्टार्ट-अप व्यय या व्यावसायिक एक्सटेंशन को भुगतान करने के लिए होता है। ऐसे कामों के लिए, कंपनियों को व्यापार ऋण लेना पड़ता है, उनकी वित्तीय सहायता के लिए।

ये मूल रूप से एक उधार ही होता है, जिसे की कंपनी को एक विशिष्ट कार्यकाल के बाद वापस करना ही होता है। ये व्यवसाय ऋण आपको बहुत से कार्यों के लिए ले सकते हैं।

6. गोल्ड लोन
गोल्ड लोन एक प्रकार का सुरक्षित ऋण होता है, वहीँ इस ऋण को प्रदान किया जाता है बैंकों के द्वारा सोने के कोल्टरल के बदले में। बैंकों प्रदान करता है उधारकर्ताओं को उनकी आवश्यकता के ऋण लेकिन उसके बदले में वे उनके सोने के गहने और सिक्कों को रख लेते हैं, वहीँ इसे वे तब वापस करते हैं जब आप ली हुई राशि लौटा देते हैं। लेकिन इसे लेने में बहुत तकलीफ नहीं होती है।

लोन लेने के मुख्य कारण क्या हैं? (What are the main reasons for taking a loan?)

1. जीवन लक्ष्य को पूर्ण करने के लिए: जब आप चाहते हैं की आपके जीवन के लक्ष्य पूर्ण हों और इसके लिए आपको थोड़ी बहुत वित्तीय सहायता की आवश्यकता होती है तो आपको ऋण की बहुत अधिक आवश्यकता होती है।

2. तत्काल वित्तीय आवश्यकताओं के होने से: जब किसी के साथ क्या हो सकता है तो हम अंजाजा भी नहीं होता है, इसलिए ऐसे समय में आप ऋण लागू कर सकते हैं यदि यदि वित्तीय आपातकाल हो जाता है तब।

3. किसी भी वित्तीय व्यवस्था को ठीक तरीके से करने के लिए: आपके सामने अगर कोई ऐसी घटना घटित हो जाती है जिसका विषय में आपको कुछ भी नहीं पता होता है, तो आप ऐसे समय में ऋण aaply कर सकते हैं, क्यूंकि आप नहीं चाहते हैं। की कोई भी प्रकार की रुकावट हो, वहीँ चीजें आसानी से हो जाएँ।

लोन EMI कैलकुलेटर क्या है?

ऋण ईएमआई कैलकुलेटर एक उपयोगी उपकरण होता है जिसका इस्तमाल आप मासिक देय राशि और ब्याज गणना करने के लिए करते हैं। EMI की गणना करने के लिए अपनी ऋण राशि के लिए, आपको कुछ चीज़ों के मूल्यों को दर्ज करना होगा, जैसे की प्रमुख राशि (P), समय अवधि (N), और ब्याज दर (R) है।

लोन के फायदे (Benefits of loans)

1. वित्तीय लचीलेपन का होना: ऋण आपको वित्तीय लचीलापन प्रदान करता है। ये आपकी जरूरत के समय में आपको वित्तीय मदद प्रदान करता है। वहीँ एक ऋण लेने से ये आपको कुछ हद तक वित्तीय स्वतंत्रता भी प्रदान करता है और साथ में आपके रोज़मर्रे के खर्च को सही तरीके से संभालता भी है, वहीँ आपके नियोजित बजट को इधर उधर भी नहीं करता है।

2. आसान उपलब्धता: सभी प्रकार के ऋण ज्यादातर 48 घंटे के भीतर ही स्वीकृत हो जाते हैं, शर्त है की आप सभी जरुरी दस्तावेज पहले से ही • जमा कर दिए होते हैं। इसलिए उन्हें आसानी से प्राप्त किया जा सकता है।

3. जरूरत का राशि प्राप्त होना: आपकी आय और वित्तीय इतिहास के आधार पर, आपको अपनी जरूरत के पैसे मिल जाएंगे।

4. सुविधाजनक कार्यकाल का होना: ऋण लेने में समय आप ही चुन सकते हैं की आप कितनी समय सीमा के भीतर ऋण को चूका सकते हैं। ज्यादातर समय में आपको 12 महीने से लेकर लगभग 60 महीने तक के लिए मिलते हैं।

5. टैक्स बेनेफिट्स फडेडा: 1961 के अनुसार आयकर अधिनियम, के अनुसार, सभी प्रकार के ऋण, आपको कर लाभ की सुविधा प्राप्त होती है।

SHARE