Computer क्या है? बेसिक जानकारी हिंदी में|

computer basic information in hindi

Computer क्या है? बेसिक जानकारी हिंदी में

कंप्यूटर शब्द अंग्रेजी के “Compute” शब्द से बना है, जिसका अर्थ है “गणना”, करना होता है इसीलिए इसे गणक या संगणक या अभिकलक यंत्र भी कहा जाता है और इसका अविष्‍कार Calculation करने के लिये हुआ था सीधी भाषा मेंं कंप्‍यूटर Calculation करने वाली मशीन थी, जैसे आपका कैलकुलेटर
कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया? मॉडर्न कंप्यूटर का जनक Charles Babbage को कहा जाता है. क्यूंकि उन्होंने ही सबसे पहले Mechanical कंप्यूटर को डिजाईन किया था, जिसे Analytical Engine के नाम से भी जाना जाता है. इसमें Punch Card की मदद से डाटा को insert किया जाता था.
तो कंप्यूटर को हम एक ऐसा advanced इलेक्ट्रॉनिक device कह सकते हैं जो की  Raw data को input के तोर में User से लेता है, फिर उस data को program (set of Instruction) के द्वारा प्रोसेस करता है और आखिर के परिणाम को Output के रूप में प्रकाशित करता है. ये दोनों numerical और non numerical (arithmetic and Logical) calculation को process करता है.

कंप्यूटर का फुल फॉर्म क्या है?

कम्प्यूटर बहु-उपयोगी मशीन होने के कारण आज तक भी इसको एक परिभाषा में नही बाँध पाँए है. इसी कड़ी में कम्प्यूटर का पूरा नाम भी चर्चित रहता है. जिसकी अलग लोगों और संस्थाओं ने अपने अनुभव के आधार पर भिन्न-भिन्न व्याख्या की है.
C – CommonlyO – OperatedM – MachineP – ParticularlyU – Used forT – Technical and E – Educational, R – Research

कंप्यूटर काम कैसे करता है:

कंप्यूटर काम कैसे करता है यह आप अपनी आँखों से देख तो नहीं सकते लेकिन इसे समझ ज़रूर सकते है तो कंप्यूटर को जब हम instruction देते है keyboard और mouse की मदद से तब वो instruction CPU तक जाता है और CPU हमारे दिए हुए instructions का पालन करता है इसी तरह हमारा कंप्यूटर काम करता है

कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है:

  • Supercomputer:  यह सबसे powerful कंप्यूटर होता है और सबसे महंगा भी इस तरह के कंप्यूटर ज्यादातर बड़े organizations द्वारा ही use किये जाते है. NASA भी supercomputer का उपयोग करता है अपने space shuttles launch करने के लिए, उन्हें control करने के लिए और space को explore करने के लिए भी
  • Mainframe Computer: यह उतना powerful नहीं होता जितना की supercomputer होते है लेकिन फिर भी यह बहुत महंगे होते है government organizations ज्यादातर इसी तरह के कंप्यूटर का इस्तेमाल करते है. Banks, educational institution और insurance companies भी इस तरह के कंप्यूटर का उपयोग अपने ग्राहकों के data store करने के लिए करते है
  • Minicomputer: इस तरह के कंप्यूटर का प्रयोग small business और firms द्वारा किया जाता है. Minicomputer को हम midrange computer के नाम से भी पुकारते है
  • Microcomputer: हम जो आमतोर पर desktop computers, laptops, tablets, smartphones इस्तेमाल करते है वो microcomputer में ही आते है. इस तरह के कंप्यूटर सबसे ज्यादा use किये जाते है और यह बाकि कंप्यूटर से सस्ते भी होते है. इस तरह के कंप्यूटर entertainment, education, gaming और दुसरे काम के लिए बनाये जाते है

CPU क्या है:

 CPU क्या है? Central Processing Unit  को  computer brain भी बोला जाता है क्यूंकि जो भी instruction हम कंप्यूटर को देते है उसे पूरा करने का काम CPU का ही है. CPU को processor के नाम से भी जाना जाता है

कंप्यूटर प्रोग्राम क्या है:

कंप्यूटर प्रोग्राम को आप instructions का collection कह सकते हो जो किसी विशेष काम के लिए बनाया जाता है और जब हम उस प्रोग्राम को execute करते है तब वो जिस काम के लिए बनाया जाता है वो पूरा करता है. एक बात को हमेशा याद रखे कंप्यूटर एक तरह का मशीन है जो इंसानों की भाषा नहीं समझ सकता इसलिए कंप्यूटर प्रोग्राम बनाये जाते है जो computers को instruct करता है. कंप्यूटर प्रोग्राम जो करता है उसे हम computer programmer कहते है और जिस भाषा को हम प्रोग्राम में इस्तेमाल करते है उसे programming language कहते है और यह भी बहुत तरह के होते है

हार्डवेयर क्या है:

हार्डवेयर हम कंप्यूटर के physical parts को कहते है, नहीं समझे? कोई बात नहीं चलिए विस्तार से समझते है. देखिये कंप्यूटर के बहुत से parts होते है जैसे mouse, keyboard, monitor, cpu, motherboard, ram etc. तो कंप्यूटर के जो भी part हम अपने हाथो से छू सकते है उन्हें हार्डवेयर कहते है . अगर आप देखे तो हार्डवेयर के बिना कंप्यूटर का कोई वजूद ही नहीं होगा

सॉफ्टवेर क्या है:

हमने ऊपर यह तो जान लिया की हार्डवेयर क्या है लेकिन अभी तक यह नहीं जाना की सॉफ्टवेर क्या है. दोस्तों सॉफ्टवेर भी हार्डवेयर की तरह कंप्यूटर को चलाने में अहम भूमिका निभाता है अगर आप यह जानना चाहते हो की सॉफ्टवेर क्या है तो सॉफ्टवेर आप उन सभी instructions और data को कह सकते हो जो electronically save हो सकते है. सॉफ्टवेर को हमेशा किसी विशेष काम के लिए बनाया जाता है जैसे की photoshop से हम photo edit कर सकते है, notepad में हम कुछ भी type कर सकते है, paint से हम कुछ भी draw कर सकते है इसी तरह के बहुत से सॉफ्टवेर होते है जो किसी विशेष काम के लिए बनाये जाते है. सॉफ्टवेर दो तरह के होते है application software और system software. सॉफ्टवेर को अच्छी तरह समझने के लिए आप इस पेज पर जाये

कम्प्यूटर की सीमाएं – Limitations of Computer in Hindi

  1. कम्प्यूटर एक मशीन हैं जिसे अपना कार्य करने के लिए हम इंसानों पर निर्भर रहना पडता हैं. जब तक इसमे निर्द्श प्रविष्ट नहीं होंगे यह कोई परिणाम उत्पादित नहीं कर सकता हैं.
  2. इसमें विवेक नहीं होता हैं. यह बुद्धिहीन मशीन हैं. इसमें सोचने-समझने की क्षमता नहीं होती हैं. मगर वर्तमान समय में कृत्रिम मेधा (Artificial Intelligence) के द्वारा कम्प्यूटरों को सोचने और तर्क करने योग्य क्षमता विकसित की जा रही हैं.
**Computer को काम करने के लिए साफ-सुथरे वातारण की जरुरत पडती हैं. क्योंकि धूल-भरी जगह पर इसकी कार्यक्षमता प्रभावित होती हैं. और यह कार्य करना बंद भी कर सकता हैं.
** ये भी पढ़ें –  कम्प्यूटर का इतिहास
** ये भी पढ़ें –  कंप्यूटर की मूल यूनिटों की जानकारी 
SHARE