कंप्यूटर की मूल यूनिटों की जानकारी Knowledge of basic computer units

Basic unit of computer

कंप्यूटर की मूल यूनिटों की जानकारी Knowledge of basic computer units

 नमस्कार, मैं आपके अपने वेब पोर्टल HindiGyanShala पर आपका स्वागत करता हूँ। हमारे इस पोर्टल पर Technology ओर Education से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी आपको दी जाती है। आपको हमारी वेबसाइट पर कंप्यूटर से जुड़ी हर प्रकार की जानकारी मिल जाएगी, कंप्यूटर से संबंधित सभी पोस्ट आपके सामने पेज पर मौजूद है। तो चलिए आज के विषय के बारे में बात कर लेते है। कंप्यूटर की मूल यूनिट।  (Computer ke mul units)
Keyboard, mouse, Joystick, Trackball, Light pen, Tough screen Digital camera, Scanner..

 

download 8


कंप्यूटर के मूल यूनिट/Computer ke Mul Unit in Hindi 

मदरबोर्ड (Motherboard) 
कंप्यूटर के Main Circuit बोर्ड को ही Motherboard कहा जाता है। यह एक पतली प्लेट की तरह होता है जिस पर सभी Components (CPU, RAM, HDD Connector) लगे हुए होते हैं, और साथ ही कुछ Input और Output यूनिट, डिस्प्ले यूनिट भी लगी होती है। कंप्यूटर का Motherboard हर प्रकार के हार्डवेयर से सीधे तौर पर जुड़ा हुआ होता है, और कंप्यूटर की हर कार्यवाही Motherboard से ही शुरू होती है।CPU/Processor

CPU जिसे Central Processing Unit कहा जाता है, ये कंप्यूटर कैबिनेट के अंदर Motherboard के ऊपर लगाया जाता है।CPU को कंप्यूटर का दिमाग भी कहा जाता है। CPU ही सभी Computer के भीतर हो रही सारी गतिविधियों को Manage करता है। CPU की स्पीड जितनी ज्यादा होगी उतनी जल्दी ही आपका कंप्यूटर किसी भी काम को प्रोसेस करता है।

RAM/रैम SODIMM 64MB SDRAM
RAM का पूरा नाम Random Acess Memory  होता है। Computer System की Short Term Memeory होती है। जब भी कंप्यूटर किसी भी प्रकार की Calculations करता है तो RAM उस Result को Temporarily सेव कर लेती है। ये तभी तक उस रिजल्ट को Save रखती है जब तक आपका कंप्यूटर On रहता है, कंप्यूटर के Off होते ही इसकी Memory डिलीट हो जाती है। RAM को GB में मापा जाता है। रैम की Capecity जितनी ज्यादा होगी आपके कंप्यूटर की Performance भी उतनी ही बढ़िया होगी।
HDD/हार्ड डिस्क ड्राइव 
HDD यानि Hard Disk Drive कंप्यूटर में Data को स्टोर करने के लिए सबसे जरुरी Hardware होता है, इसकी Capecity जितनी ज्यादा होगी, आप इसमें उतना ही ज्यादा Data स्टोर कर सकते हैं। आप इसमें Software, Document और अन्य Files स्थाई रूप से सेव कर सकते हैं। आजकल HDD की जगह लोग SSD Card का इस्तेमाल भी कर रहे हैं, SSD कार्ड की Technology HDD से उन्नत होती है।SMPS/सिस्टम मैन पावर सप्लाई/Power Supply Unit
इसे System Main power Supply, System Mode Power Supply और  Power Supply Unit के नाम से जाना जाता है। इसके द्वारा कंप्यूटर मदरबोर्ड को पावर सप्लाई दी जाती है। ये हर कॉम्पोनेन्ट को उसकी Capecity के अनुसार ही Power Supply करता है।
Expansion Card/पीसीआई स्लॉट 
सभी Computers के Motherboard पर Expansion Slots होते हैं, इन्हे PCI/Peripheral Components Interconnect Card भी कहा जाता है। इन पर हम भविष्य में कोई भी Expansion Card जोड़ सकते हैं,  जैसे किVideo Card, Sound card, Network Card, Bluetooth Card (Adapter) इत्यादि। लेकिन आजकल के Motherboard में पहले से ही बहुत सारे Slots होते हैं

CPU को मुख्यतया तीन भागों में बांटा गया है।

  1. कन्ट्रोल यूनिट (Control Unit)
  2. अर्थ मैटिक लॉजिक यूटिन (Arithmetic Logical Unit)
  3. मेमोरी (Memory)

(1) कन्द्रोल यूनिट (Control Unit) : कन्ट्रोल यूनिटि कम्प्यूटर की आन्तरिक क्रियाओं को संचालित करके, उन्हें नियन्त्रित करती है। तत्पश्चात इन क्रियाओं का ए.एल.यू (A.L.U.) तथा मैमोरी में आदान-प्रदान करती है।

(2) अर्थ मैटिक लॉजिक यूनिट (A.L.U.) : जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, कि यह यूनिट साभी प्रकार के अर्थ मैटिक और लॉजिकल क्रियायें करती है। ए.एल.यू कन्ट्रोल यूनिट से डाटा तथा निर्देशों को प्राप्त करके उन्हें क्रियान्वित करता है। तत्पश्चात् डाटा तथा निर्देशों को सूचना के रूप में मैमोरी में भेज देता है।

(3) मैमोरी :  दो प्रकार की होती है।

  1. मुख्य मैमोरी (Main Memory) : इस मैमोरी को Main Memory भी कहा जाता है। यह दो प्रकार की होती है।
    1. RAM (Random Access Memory)
    2. ROM (Read Only Memory)
  2. सहायक मैमोरी (Auxiliary Memory): सहायक मैमोरी उसमें बाहर चुम्बकीय माध्यमों जैसे- हार्ड डिस्क (Hard Disk), फ्लॉपी डिस्क (Flopy Disk), चुम्बकीय टेप (Magnatic Tap) आदि के रूप में होती है।

 

SHARE