कंप्यूटर एक्सपर्ट (Computer Expert) कैसे बने?

How to become a Computer Expert

समय की चाल से ताल मिलाना बहुत जरुरी है, यानि समय के साथ खुद को बदलना होगा, तभी आप प्रोग्रेस कर पाएंगे। आज कल सारी चीजें डिजिटल होती जा रही है। आज का युग डिजिटल युग है। इस डिजिटल युग में पढ़ने-लिखने वाले बच्चों और युवाओं का पैशन कंप्यूटर और टेक्नोलॉजी के प्रति काफी बढ़ गया है। ऐसे में सभी कंप्यूटर सीखना चाहते है और इसी फील्ड में अपना करियर भी बनाना चाहते है। कुछ लोग कंप्यूटर हैकर बनना चाहते हैं। कुछ कंप्यूटर साइंटिस्ट बनना चाहते है, तो कुछ लोग ऐसे भी हैं जो कंप्यूटर एक्सपर्ट बनने की सोच रहे हैं।

कंप्यूटर में आ रही प्रॉब्लम को सॉल्व करने की पूरी कोशिश करें

अगर आपने डिसाइड कर लिया है कि आपको कंप्यूटर एक्सपर्ट बनना ही है, तो इसके लिए सबसे पहले आपको कंप्यूटर की बेसिक जांनकारी लेनी होगी जैसे- कि कंप्यूटर क्या है? इसे ऑन-ऑफ कैसे किया जाता है? कंप्यूटर में रेम और हार्ड डिस्क क्या चीज होती है? कंप्यूटर में पासवर्ड कैसे लगाते है? और कंप्यूटर की केयर कैसे करते हैं? ये सभी छोटी-छोटी लेकिन महत्त्वपूर्ब बातें आपको सीखनी होगी। इसके बाद आप कंप्यूटर या लैपटॉप चलाना सीखे।

इसके लिए आप अपने किसी नजदीकी कंप्यूटर इंस्टिट्यूट से, ट्रेनिंग भी ले सकते है। अगर ट्रेनिंग में कोई प्रॉब्लम आ रही हो, तो आप एक पुराना या नया कंप्यूटर खरीद लें। घर पर भी आप इंटरनेट की मदद से, ये सब बातें सीख सकते है। इस दौरान एक्सेल, पावर-पॉइंट, वर्ड-पेंट, वेबसाइट खोलना और टाइपिंग करना जैसी चीजें सीखने के साथ-साथ कंप्यूटर में लगने वाले सभी हार्डवेयर पार्ट्स की जानकारी भी लेते रहें।

सभी तरह के ऑपरेटिंग सिस्टम को चलाना सीखें

कंप्यूटर एक्सपर्ट, हर तरह के ऑपरेटिंग सिस्टम को चलाना जानते है। उन्हें बहुत सारे ऑपरेटिंग सिस्टम्स जैसे- Windows Operating System, Mac OS, kali Linux Operating System की जानकारी होती है। आपके पास भी इन सभी ऑपरेटिंग सिस्टम्स की जानकारी होनी चाहिए और आपको इन्हें चलाना भी आना चाहिए। आप भी चाहें तो इन सभी ऑपरेटिंग सिस्टम को अपने कंप्यूटर में इनस्टॉल करके, इनकी जानकारी ले सकते है। ये सभी जानकारियां सीखने के बाद, फ्यूचर में जब भी किसी कंप्यूटर सिस्टम में कोई प्रॉब्लम आएगी, तो आप उस प्रॉब्लम का सॉल्यूशन चुटकियों में निकाल लेंगे।

कंप्यूटर में आ रही दिक्कत को सही करने की पूरी कोशिश करें

एक कंप्यूटर एक्सपर्ट को कंप्यूटर के बारे में पूरी जानकारी होती है। अगर कंप्यूटर में कोई खराबी है, तो कंप्यूटर एक्सपर्ट उस खराबी को बड़ी ही आसानी से ठीक कर लेते है। इसी तरह अगर आपके सामने भी कंप्यूटर से रिलेटेड कोई प्रॉब्लम आती है, तो आप भी उस प्रॉब्लम को सॉल्व करने की पूरी कोशिश करें। अगर आप कंप्यूटर को ठीक नहीं कर पा रहे है, तो इसके लिए आप इंटरनेट का भी सहारा ले सकते हैं। इंटरनेट पर आपको कंप्यूटर से जुड़ी सभी प्रॉब्लम का सॉल्यूशन मिल जायेगा। कैसे भी करके आप उस कंप्यूटर में आ रही प्रॉब्लम को सॉल्व करें।

अगर आपके किसी फ्रेंड्स या फैमिली मेंबर्स के लैपटॉप या कंप्यूटर में कोई प्रॉब्लम है, तो आप उसे भी ठीक करने की कोशिश करें। उन्हें उनकी प्रॉब्लम का सॉल्यूशन दें। ऐसा करते रहने से आपका अनुभव दिन-प्रतिदिन बढ़ता जायेगा, जो आगे चल कर आपको बेस्ट कंप्यूटर एक्सपर्ट बना सकता है।

इंटरनेट पर कंप्यूटर से रिलेटेड ब्लॉग पढ़े और विडिओ देखें

एक कंप्यूटर एक्सपर्ट हमेशा नई-नई चीजों के बारे में पढ़ता और सीखता रहता है। वो इंटरनेट पर आर्टिकल पढ़ता है और विडिओ भी देखता है। यहां पर वो कंप्यूटर और इंटरनेट से रिलेटेड नई-नई जानकारियां हासिल करता रहता है, जो उसे इससे पहले नहीं पता थीं। अगर आप भी एक कंप्यूटर जीनियस बनना चाहते है, तो आपको आज से ही इंटरनेट पर कंप्यूटर से रिलेटेड विडिओ देखना और आर्टिकल पढ़ना, शुरू कर देना चाहिए।

कंप्यूटर की एडवांस स्किल्स की इनफार्मेशन लेते रहें

जैसे ही आपको ये लगने लगे कि आपने कंप्यूटर की बेसिक जानकारी प्राप्त कर ली है और अब कंप्यूटर आपको एक खिलौने जैसा लगने लगा है। इसके बाद आप कंप्यूटर की एडवांस स्किल्स की जानकारी ले सकते है, जैसे कि कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या है? कंप्यूटर सॉफ्टवेयर क्या होता है? सॉफ्टवेयर कैसे बनाया जाता है? कंप्यूटर नेटवर्किंग कैसे की जाती है? इन सभी चीजों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है।

कंप्यूटर जीनियस बनने के लिए आप दसवीं क्लास पास करने के बाद, ग्यारहवीं क्लास में कंप्यूटर साइंस सब्जेक्ट का चुनाव करें और बारहवीं क्लास पास करने के बाद, आपको कालेज में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग सब्जेक्ट को चुनना होगा। ऐसा करने से आप इन्ही सब चीजों के बारे में पढ़ेंगे और सीखेंगें। इस डिग्री में आपको इन सभी चीजों के बारे में बहुत ही अच्छी से पढ़ाया और सिखाया जायेगा। कंप्यूटर एक्सपर्ट बनने में ये डिग्री आपके लिए बहुत ही मददगार साबित होने वाली है।

प्रोग्रामिंग भाषा सीखे?

यदि आप कप्यूटर एक्सपर्ट बनना चाहते है ,तो आप को कंप्यूटर की भाषा का ज्ञान होना अनिवार्य है, जिसके माध्यम से आप कंप्यूटर के नए-नए प्रोग्राम बना सकते है, आपको यदि सी  लैंगवेज, जावा, सी प्लस प्लस इत्यादि का सही से ज्ञान हो गया तो आप किसी भी प्रोग्राम को अपने अनुसार बना कर कार्य कर सकते है, इस भाषा का प्रयोग आप वेब के विकास या प्रोगाम डेवलपिंग में कर सकते है, इसकी जानकारी के बाद आप को अच्छे वेतन पर मल्टीनेशनल कम्पनी या सरकारी क्षेत्र में नौकरी प्राप्त कर सकते है, इसके लिए आपको इससे सम्बंधित कोर्स करने पड़ेंगे।

कंप्यूटर हार्डवेयर

कम्प्यूटर हार्डवेयर से सम्बंधित  प्रोसेसर, रैम, हार्ड ड्राइव ( HDD) , सॉलिड स्टेट ड्राइव ( एसएसडी) , ग्राफिक्स कार्ड आदि के बारे में जानकारी होनी चाहिए, कम्प्यूटर के क्षेत्र में प्रत्येक वर्ष नए- नए वर्जन आ जाते है, जिनके बारे में आपको जानकारी रखनी होती है, प्रत्येक नए वर्जन में पहले से बेहतर सुविधा प्रदान की जाती है, आप स्वयं के कम्प्यूटर की जानकारी डेस्कटॉप पर माई कम्प्यूटर के आइकॉन पर राइट क्लिक करके,  प्रॉपर्टी पर जाकर कम्यूटर के हार्डवेयर के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है।

आप अपने पीसी के प्रोसेसर, हार्ड ड्राइव, डीवीडी रोम (DVD ROM) इत्यादि की जानकारी प्राप्त कर सकते है, इस क्षेत्र में आपको रैम के विषय में जानकारी होनी चाहिए, रैम में आपको डीडीआर 2 , डीडीआर 3 या डीडीआर 4 इत्यादि के नए- नए वर्जन प्राप्त होंगे, इसके बाद आप विंडो 2003 , 2007 , 2010 , मैक और लिनक्स इनके बारे में भी आपको जानकारी होनी चाहिए है, आप इन सब जानकारी का प्रयोग में लाये और स्वयं हार्डवेयर में प्रैक्टिस करे।

हमेशा कुछ नया सीखते रहना चाहिए

एक कंप्यूटर एक्सपर्ट हमेशा कुछ ना कुछ सीखता रहता है। आप ऐसा कभी भी मत सोंचिएगा कि डिग्री मिलने या मास्टर्स कर लेने से, आप कंप्यूटर एक्सपर्ट बन जायेंगे। अगर आप ऐसा सोंच रहे है, तो ये आपकी बहुत बड़ी भूल होगी। डिग्री मिलने के बाद भी, आपको कंप्यूटर के बारे में हमेशा कुछ ना कुछ सीखते रहना होगा। इस लिए जो भी थोड़ा बहुत ज्ञान और छोटी-मोटी जानकारियां मिलती है। आप उन्हें सीखते रहें। सीखना कभी भी बंद मत कीजिए क्योंकि हमेशा कुछ ना कुछ नई जानकारियां आती ही रहती है।